छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम न्यूज एंकर के घर दुबारा पहुंची, घर बंद मिला; अब चैनल के दफ्तर जाएगी

नोएडा पुलिस ने टीवी न्यूज एंकर रोहित रंजन को कल गिरफ्तार करके जमानत पर छोड़ दिया था, उनके खिलाफ मामले में जमानती धारा लगाई गई है

छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम न्यूज एंकर के घर दुबारा पहुंची, घर बंद मिला; अब चैनल के दफ्तर जाएगी

छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम बुधवार को एक बार फिर रोहित रंजन के गाजियाबाद में स्थित निवास पर पहुंची.

नई दिल्ली:

छत्तीसगढ़ पुलिस (Chhattisgarh Police) की टीम आज जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन (Rohit Ranjan) के घर दुबारा पहुंची. हालांकि आज उनका घर बंद मिला. अब छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम ज़ी न्यूज़ के दफ्तर भी जाएगी. कल नोएडा पुलिस (Noida Police) ने रोहित रंजन को गिरफ्तार करके जमानत पर छोड़ दिया था. यूपी पुलिस पर रोहित रंजन को बचाने और गायब करने के आरोप लग रहे हैं. 

राहुल गांधी के वीडियो से छेड़छाड़ के मामले में नोएडा पुलिस (Noida Police) का कहना है कि टीवी न्यूज एंकर रोहित रंजन को पूछताछ के बाद मंगलवार की शाम को गिरफ्तार किया गया. बाद में टीवी एंकर को जमानत पर रिहा कर दिया गया. नोएडा पुलिस ने 12 घंटे से ज्यादा वक्त के बाद एक बयान में कहा कि रंजन को उनके गाजियाबाद के घर से गिरफ्तार किया गया है. यह गिरफ्तारी भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 505 (2) (वर्गों के बीच शत्रुता, घृणा या दुर्भावना पैदा करने या बढ़ावा देने वाले बयान) की जांच के तहत की गई है. पुलिस ने बयान में कहा, "एंकर रोहित रंजन को मामले में पूछताछ के लिए इंदिरापुरम स्थित उनके आवास से नोएडा लाया गया था. पूछताछ के बाद सबूतों के आधार पर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. उन्हें जमानत पर रिहा किया गया है क्योंकि उनके खिलाफ लगाईं धारा जमानती अपराध है. मामले में आगे की जांच जारी है.”

यह कार्रवाई चैनल द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी का भ्रामक वीडियो चलाने के बाद की गई है. इस वीडियो के लिए चैनल ने माफी भी मांगी थी. एक नाटकीय वीडियो में दो राज्यों की पुलिस में जोरदार बहस और धक्का-मुक्की होती दिख रही है. छत्तीसगढ़ पुलिस एंकर को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही थी, जबकि गाजियाबाद में पुलिस एंकर को कहीं ओर लेकर निकल गई.

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ पुलिस सुबह करीब साढ़े पांच बजे पहुंची, वहीं स्थानीय गाजियाबाद पुलिस एक घंटे बाद पहुंची और नोएडा पुलिस वहां सुबह आठ बजे के बाद पहुंची.

छत्तीसगढ़ के रायपुर पुलिस (Raipur Police) के डीसीपी उदयन बेहार ने NDTV से कल कहा था कि ''हमने कानून के तहत रोहित रंजन को गिरफ्तार करने की कोशिश की लेकिन गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) ने जबरन आरोपी को अपनी गाड़ी में बिठा लिया. यह कानूनन गलत है. अगर वारंट है तो लोकल पुलिस को बताने की जरूरत नहीं है. हमने इंदिरापुरम थाने में पुलिस वालों के खिलाफ शिकायत की है. हमने एसएसपी को मेल भी किया है.''

उदयन बेहार ने कहा कि ''यूपी पुलिस का व्यवहार समझ से बाहर है. हमने राहुल गांधी पर टिप्पणी को लेकर कई धाराओं में केस दर्ज किया है. हमें नहीं पता नोएडा पुलिस क्या जांच कर रही है? जीडी एंट्री में कुछ नहीं लिखा है कि कहां ले जा रहे हैं.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


नोएडा पुलिस ने कहा, 'जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन को मिली जमानत'