विज्ञापन
Story ProgressBack

"हेमंत सोरेन से सीखें...": जेल से सरकार चलाने को लेकर गिरिराज सिंह का अरविंद केजरीवाल पर तंज

बीजेपी नेता ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि नैतिकता भी कोई चीज है.  केजरीवाल ने सारी नैतिकता खो दी है.

Read Time: 3 mins
नई दिल्ली:

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Union Minister Giriraj Singh) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तीखी आलोचना की है. गिरिराज सिंह ने कहा है कि उन्होंने "सभी नैतिकता खो दी है" और उन्हें झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Former Chief Minister Hemant Soren) से "सीखना" चाहिए. गिरिराज सिंह ने कहा कि हेमंत सोरेन ने गिरफ्तार किए जाने से पहले अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. अरविंद केजरीवाल को भी इस्तीफा दे देना चाहिए.  बीजेपी नेता ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि नैतिकता भी कोई चीज है.  केजरीवाल ने सारी नैतिकता खो दी है. नैतिकता की आड़ में उन्होंने अन्ना हजारे के साथ आंदोलन किया था. और अब वो कह रहे हैं कि कानून उन्हें सलाखों के पीछे सरकार चलाने से नहीं रोकता है. 

 "कट्टर ईमानदार अब कट्टर बेईमान हो गए हैं"
गिरिराज सिंह ने भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार होने के बाद भी सरकार चला रहे अरविंद केजरीवाल पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे बाबा साहेब अंबेडकर ने क्या सोचा था कि ऐसे अनैतिक लोग मुख्यमंत्री बनेंगे? जिन्हें सलाखों के पीछे जाना होगा. आम आदमी पार्टी पर कटाक्ष करते हुए बीजेपी नेता ने कहा कि जो लोग खुद को कट्टर ईमानदार कहते थे वो अब कट्टर बेईमान के नाम से जाने जा रहे हैं. 

बीजेपी नेता ने कहा कि जब (राजद प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री) लालू प्रसाद को जेल भेजा गया तो उन्होंने अपनी पत्नी को मुख्यमंत्री बना दिया. उन्होंने केजरीवाल के इस्तीफे की मांग करते हुए कहा, "आप भी अपनी पत्नी को ही मुख्यमंत्री बना दीजिए, उन्हें हेमंत सोरेन से कुछ सीखना चाहिए..."

केजरीवाल को मिला सहयोगी दलों का साथ
दिल्ली आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के विरोध में ‘इंडिया' गठबंधन रविवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में महारैली आयोजित करेगा. एक संयुक्त प्रेस वार्ता में दिल्ली के मंत्री गोपाल राय ने इसकी जानकारी दी. गोपाल राय ने कहा, पूरे देश ने देखा कि कैसे अरविंद केजरीवाल को ईडी ने गिरफ्तार किया था. जो लोग हमारे संविधान संगठनों से प्यार करते थे, वे अब गुस्से में हैं. झारखंड के मुख्यमंत्री को भी गिरफ्तार किया, चाहे बिहार में तेजस्वी यादव हो, सबके ऊपर फर्जी मुकदमे लगाए जा रहे है. आम आदमी पार्टी के मुख्यालय को सील कर दिया है वो भी तब जब आचारसंहिता लगी हुई है.

क्या जेल से सरकार चला पाएंगे केजरीवाल? 
आम आदमी पार्टी ने स्पष्ट कर दिया है कि गिरफ्तारी के बावजूद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने रहेंगे. हालांकि कोई भी कानून उस पर रोक नहीं लगाता, जेल नियम इसे बहुत कठिन बना देंगे. दिल्ली की तिहाड़ जेल के एक पूर्व लॉ ऑफिसर सुनील गुप्‍ता का कहना है कि एक कैदी से हफ्ते में सिर्फ दो मुलाकातें हो सकती हैं.

सुनील गुप्ता ने एनडीटीवी को बताया, "जेल से सरकार चलाना आसान नहीं है. जेल मैनुअल में कहा गया है कि आप अपने परिवार, दोस्तों या सहयोगियों से सप्ताह में केवल दो बार मिल सकते हैं. इसलिए इन प्रतिबंधों के साथ शासन करना उनके लिए आसान नहीं होगा." वह कहते हैं कि हालांकि, एक रास्ता है. केजरीवाल मुख्यमंत्री बने रह सकते हैं यदि वे अधिकारियों से उन्हें घर में नजरबंद करवाने में सक्षम हों. हालांकि, इसके लिए उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना की मंजूरी की आवश्यकता होगी. 

ये भी पढ़ें- :

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
गुरपतवंत पन्नू केस: कौन है निखिल गुप्ता? क्यों लाया गया अमेरिका? भारत के लिए क्या है टेंशन की बात?
"हेमंत सोरेन से सीखें...": जेल से सरकार चलाने को लेकर गिरिराज सिंह का अरविंद केजरीवाल पर तंज
घरेलू हवाई यात्री यातायात मई में 4.4 प्रतिशत बढ़कर 1.37 करोड़ हो गया
Next Article
घरेलू हवाई यात्री यातायात मई में 4.4 प्रतिशत बढ़कर 1.37 करोड़ हो गया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;