आबे भारत के विश्वसनीय दोस्त थे, उनके कार्यकाल में भारत-जापान संबंधों को नई ऊंचाई मिली: PM मोदी

मोदी ने कहा, ‘‘आज का दिन मेरे लिए अपूरणीय क्षति और असहनीय पीड़ा का दिन है. मेरे घनिष्ठ मित्र और जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे अब हमारे बीच नहीं रहे. आबे मेरे तो साथी थे ही, वह भारत के भी उतने ही विश्वसनीय दोस्त थे. मैं अपने दोस्त को अंतिम विदाई देता हूं.’’

आबे भारत के विश्वसनीय दोस्त थे, उनके कार्यकाल में भारत-जापान संबंधों को नई ऊंचाई मिली: PM मोदी

मोदी ने कहा कि शिंजो आबे भारत के जन-मन में सालों-साल तक बसे रहेंगे.

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को जापान (Japan) के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe) को अपना घनिष्ठ मित्र और भारत का ‘‘विश्वसनीय दोस्त'' बताया और कहा कि उनके कार्यकाल में भारत-जापान के राजनीतिक संबंधों को नयी ऊंचाई मिली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिवंगत नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली की याद में आयोजित ‘‘प्रथम अरुण जेटली स्मृति व्याख्यान'' को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने 2013 में खुद को पीएम कैंडिडेट बनाए जाने को याद किया. 

उन्होंने कहा कि मुझे याद है 2013 में जब बीजेपी ने मुझे पीएम कैंडिडेट बनाया था, तब दिल्ली में व्यापार जगत के लोगों ने मुझे कार्यक्रम के लिए बुलाया था. वह मुझसे पूछ रहे थे आप क्या करेंगे, यह कानून बनाओगे, वह कानून बनाओगे. मैंने कहा- देखिए आप कानून बनाना चाहते हैं लेकिन मैं एक वादा करता हूं कि मैं हर दिन एक कानून खत्म करूंगा. नए कानून बनाने की गारंटी नहीं देता पर, खत्म जरूर करूंगा. साथ ही कहा कि पहले 5 साल में डेढ़ हजार कानून खत्म करने का काम हमने पूरा कर दिया है. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भारत में जापान के सहयोग से जो कार्य हो रहे हैं, उनकी बदौलत आबे भारत के जन-मन में सालों-साल तक बसे रहेंगे.  मोदी ने कहा, ‘‘आज का दिन मेरे लिए अपूरणीय क्षति और असहनीय पीड़ा का दिन है. मेरे घनिष्ठ मित्र और जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे अब हमारे बीच नहीं रहे. आबे मेरे तो साथी थे ही, वह भारत के भी उतने ही विश्वसनीय दोस्त थे. मैं अपने दोस्त को अंतिम विदाई देता हूं.''

उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में भारत-जापान के राजनीतिक संबंधों को नई ऊंचाई तो मिली ही, दोनों देशों की साझी विरासत से जुड़े रिश्ते भी खूब आगे बढ़े.

उन्होंने कहा, ‘‘आज भारत के विकास की जो गति है... जापान के सहयोग से हमारे यहां जो कार्य हो रहे हैं... इनके जरिए शिंजो आबे भारत के जन-मन में सालों-साल तक बसे रहेंगे.''

आबे जापान के सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली नेताओं में शुमार थे. देश के पश्चिमी हिस्से में चुनाव प्रचार के एक कार्यक्रम में भाषण के दौरान शुक्रवार को उन्हें गोली मार दी गई थी. गंभीर रूप से घायल आबे को विमान से एक अस्पताल ले जाया गया. बाद में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

दुनिया के सबसे सुरक्षित देशों में से एक माने जाने वाले जापान में 67 वर्षीय आबे को गोली मारे जाने की घटना ने लोगों को स्तब्ध कर दिया है.

पुलिस ने घटनास्थल पर ही संदिग्ध हमलावर को गिरफ्तार कर लिया. घटना के बाद प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और उनके कैबिनेट मंत्री देशभर में अन्य प्रचार अभियानों को बीच में रोक कर टोक्यो लौट आए. किशिदा ने इस हमले को ‘‘कायराना और बर्बर'' बताया और कहा कि चुनावी अभियान के दौरान हुआ यह अपराध पूरी तरह अक्षम्य है.

ये भी पढ़ेंः

* जापान के Ex PM Shinzo Abe की हत्या, चुनाव प्रचार के दौरान मारी गई थी गोली, PM Modi ने जताया शोक
* नई पीढ़ी को भविष्य के लिये तैयार करने की बुनियाद है नई शिक्षा नीति : पीएम मोदी
* "राष्ट्रीय राजनीति में एंट्री लेंगे तेलंगाना के सीएम KCR, इस महीने करेंगे नेशनल पार्टी का ऐलान

बनारस में बच्चों ने पीएम मोदी को शिव तांडव सुनाया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com