विज्ञापन
Story ProgressBack

नौकरी का झांसा... रेप... आबॉर्शन, मुजफ्फरपुर कॉल सेंटर का घिनौना सच; मास्टरमाइंड गोरखपुर से गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना में दर्ज प्राथमिकी की जांच के दौरान डीबीआर यूनीक्यू कंपनी द्वारा लड़के-लड़कियों को बंधक बनाकर फर्जी कॉल सेंटर (नेटवर्क-मार्केटिंग) में काम कराने एवं लड़कियों के यौन शोषण की बात सामने आई थी.

नौकरी का झांसा... रेप... आबॉर्शन, मुजफ्फरपुर कॉल सेंटर का घिनौना सच; मास्टरमाइंड गोरखपुर से गिरफ्तार

बिहार के मुजफ्फरपुर में फर्जी जॉब का झांसा देकर सैंकड़ों लड़कियों से यौन शोषण मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. नौकरी के नाम पर गोरखधंधा, नौकरी दिलाने के नाम पर धंधेबाजों ने नेटवर्क मार्केटिंग के मकरजाल में बेरोजगार युवक- युवती को फंसाया गया है. यौन उत्पीड़न मामले में पुलिस ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से मुख्य आरोपी तिलक सिंह को गिरफ्तार कर लिया.

कॉल सेंटर में फर्जी नौकरी दिलाने के नाम पर लड़कियों के साथ यौन शोषण मामले में अब पुलिस का एक्शन शुरू हो गया है.  पुलिस की टीम फिलहाल मामले की जांच के लिए यूपी तक पहुंच गयी है. जांच में पता चला कि इंटरनेट के माध्यम से युवतियों से आरोपित संपर्क करता था. इसके बाद लड़कियों को बड़े-बड़े सपने दिखाकर जाल में फंसाता था. उसके साथ मारपीट व यौन शोषण किया जाता था. इस दौरान युवतियों की तस्वीर ली जाती थी. बखरी में मार्केटिंग कंपनी डीबीआर के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई. पीड़िता ने पूछताछ में बताया कि इंटरनेट के माध्यम से कंपनी के लोगों को जोड़ा जाता है फिर मारपीट कर काम करने पर बाध्य करते है.

पीड़िता ने बताया कि उसके जैसे 150 से ज़्यादा लड़कियों को एक जगह रखा गया था और फ्रॉड कॉल की ट्रेनिंग दी जा रही थी. एक टारगेट दिया गया, जिसके पूरा नहीं होने पर पीड़िता के साथ यौन शोषण किया गया. तिलक कुमार सिंह ने जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाया और गर्भवती होने पर जबरन गर्भपात करवाया.

मुजफ्फरपुर के अहियापुर थाना में दर्ज प्राथमिकी की जांच के दौरान डीबीआर यूनीक्यू कंपनी द्वारा लड़के-लड़कियों को बंधक बनाकर फर्जी कॉल सेंटर (नेटवर्क-मार्केटिंग) में काम कराने एवं लड़कियों के यौन शोषण की बात सामने आई थी.

पीड़िता ने अपने बयान में कंपनी से वर्ष 2022 से जुड़े होने और कंपनी में कार्यरत कर्मी पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण का आरोप लगाया था. पीड़िता का कहना है कि लड़कियों को प्रताड़ित किया जाता है. उसने यौन शोषण के आरोप भी लगाए थे. उक्त फर्जी कंपनी के खिलाफ कई मामले दर्ज होने की बात भी सामने आई है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

सिटी एसपी अवधेश दीक्षित ने बताया कि अहियापुर थाने में 02.06.2024 को एक FIR दर्ज किया गया था इसमें एक महिला के द्वारा कुछ लोगों पर आरोप लगाया लगाया गया था कि नौकरी के नाम पर उन्हें बुलाया गया है और फ्रॉड किया गया है. उनसे पैसा लिया गया है और उनका शारीरिक शोषण किया गया है.

सिटी एसपी अवधेश दीक्षित ने बताया, मामले की गंभीरता को देखते हुए एसडीपीओ,अहियापुर थानेदार, प्रशिक्षु एएसपी की टीम गठित कर यौन शोषण के आरोपी तिलक कुमार को गिरफ्तार किया गया है. आरोपी को गोरखपुर से गिरफ्तार किया गया है. आगे भी अनुसंधान जारी है और जो भी होंगे उनकी गिरफ्तारी होगी. सिटी एसपी अवधेश दीक्षित ने कंपनी के बारे में बताया कि डीबीआर कंपनी है, जिसमें लड़के लड़कियों को नियुक्ति की जाती है. यह एक मेडिसिन  हर्बल प्रोडक्ट बेचती है. पिछले साल 19 मई 2023 को बखरी में रेड किया गया था, जिसमे सात लोगों को जेल भेजा गया था.

सिटी एसपी ने बताया कि टारगेट पूरा नही होने पर लड़का लड़की दोनो को पिटाई किया जाता है. अहियापुर स्थित नेटवर्किंग सेंटर पिछले साल से बंद है. 

ये भी पढ़ें:- 
VIDEO : बिहार में उद्घाटन से पहले ही भरभराकर गिरा पुल, पानी में गए लागत के 12 करोड़

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
NEET-UG मामले में एनटीए ने सुप्रीम कोर्ट में एक अतिरिक्त हलफनामा किया दाखिल
नौकरी का झांसा... रेप... आबॉर्शन, मुजफ्फरपुर कॉल सेंटर का घिनौना सच; मास्टरमाइंड गोरखपुर से गिरफ्तार
NEET पर 'सुप्रीम' सुनवाई: जानिए वकीलों ने क्या दीं दलीलें, जज साहब ने क्या कुछ कहा? 10 बड़ी बातें
Next Article
NEET पर 'सुप्रीम' सुनवाई: जानिए वकीलों ने क्या दीं दलीलें, जज साहब ने क्या कुछ कहा? 10 बड़ी बातें
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;