यह ख़बर 08 जुलाई, 2014 को प्रकाशित हुई थी

पूर्व रेलमंत्रियों ने की आलोचना की, 'अमीरों का रेल बजट' बताया

नई दिल्ली/पटना:

पूर्व रेल मंत्रियों ने रेल बजट को लेकर रेलमंत्री सदानंद गौड़ा की आज आलोचना की और इसे 'अमीरों का रेल' और 'मोदी का गैजेट' बताया। उन्होंने कहा कि बजट में कुछ भी नया नहीं है।

गौड़ा के पूर्ववर्तियों ने जहां बजट की खामियों को रेखांकित किया, वहीं तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की आलोचना करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने उनके राज्य को कुछ नहीं दिया और 'अपमान' किया।

ममता यूपीए सरकार में रेल मंत्री भी रह चुकी हैं। उन्होंने फेसबुक पर दिये संदेश में कहा, 'केंद्र की नई सरकार ने बंगाल को वंचित तथा अपमान किया है..।'

वहीं लोकसभा में कांग्रेस के नेता एवं पूर्व रेलमंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भाजपा नीत राजग सरकार के पहले बजट में कोई नई योजना, परियोजना या रेल लाइन बिछाने की बात नहीं है। इसमें केवल प्रधानमंत्री के गृह राज्य गुजरात को खुश करने की कोशिश की गई है।

खड़गे से पहले रेलमंत्री रहे पवन कुमार बंसल ने भी गौड़ा की आलोचना करते हुए कहा कि रेल बजट में कुछ भी 'नया' नहीं है। कांग्रेस नेता ने कहा कि बंदरगाहों को रेल लाइन से जोड़ने तथा सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग की बात पहले से पाइपलाइन में है।

वहीं राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने रेल बजट को लोगों के साथ धोखाधड़ी करार दिया और रेलवे को विदेशी हाथों में सौंपने का प्रयास बताया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यूपीए-1 में रेलमंत्री रहे प्रसाद ने पटना में कहा, 'रेल बजट कुछ और नहीं बल्कि लोगों के साथ धोखाधड़ी है..यह रेल बजट नहीं बल्कि मोदी गैजेट है।' तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता और संप्रग-दो में रेल मंत्री रहे दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि बुलेट ट्रेन का विचार अच्छा है लेकिन पहले रेलवे लाइनों की सुरक्षा को चौक चौबंद करने की जरूरत है।