विज्ञापन
Story ProgressBack

संसद भवन परिसर में महापुरुषों की प्रतिमाओं वाले 'प्रेरणा स्थल' का लोकार्पण रविवार को

उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ 'प्रेरणा स्थल' का करेंगे लोकार्पण

संसद भवन परिसर में महापुरुषों की प्रतिमाओं वाले 'प्रेरणा स्थल' का लोकार्पण रविवार को
लोकार्पण कार्यक्रम में राज्यसभा और लोकसभा के सभी सदस्यों को भी आमंत्रित किया गया है.
नई दिल्ली:

उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) रविवार, 16 जून को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की उपस्थिति में संसद भवन (Parliament House) परिसर में नवनिर्मित प्रेरणा स्थल (बीजी – 7, संविधान सदन के सामने) का लोकार्पण करेंगे. 

आपको याद दिला दें कि, हाल ही में कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने संसद भवन परिसर से महापुरुषों की मूर्ति को हटाने का आरोप लगाया था, जिसे खारिज करते हुए लोकसभा सचिवालय ने उस समय बताया था कि संसद भवन परिसर से किसी भी महापुरुष की प्रतिमा को हटाया नहीं गया है, बल्कि महापुरुषों की प्रतिमाओं को संसद भवन परिसर में ही सम्मानजनक रूप से भव्य ‘प्रेरणा स्थल' में स्थापित किया जा रहा है. इससे संसद परिसर में भ्रमण के लिए आने वाले आगंतुक इन महापुरुषों की प्रतिमाओं का सुगमता से दर्शन कर सकेंगे और उनके जीवन दर्शन से प्रेरणा ले सकेंगे. इसी प्रेरणा स्थल का लोकार्पण उपराष्ट्रपति धनखड़ रविवार को करने जा रहे हैं.

लोकार्पण कार्यक्रम में राज्यसभा और लोकसभा के सभी सदस्यों को भी आमंत्रित किया गया है. संसद भवन परिसर के अंदर हमारे देश के महापुरुषों एवं महान स्वतंत्रता सेनानियों की प्रतिमाएं स्थापित हैं. उनका हमारे देश के इतिहास में, हमारी संस्कृति में, हमारे स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान रहा है. ये प्रतिमाएं परिसर में अलग-अलग स्थानों पर स्थित थीं, इससे आगंतुकों को इनका दर्शन करने में कठिनाई होती थी. इसलिए संसद भवन परिसर के अंदर इन प्रतिमाओं को एक ही स्थान पर स्थापित करने के उद्देश्य से प्रेरणा स्थल का निर्माण किया गया है.

इन प्रतिमाओं के समीप नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से उन महापुरुषों की जीवनगाथा, उनके संदेश को भी आगंतुकों के लिए उपलब्ध कराने की कार्य योजना बनाई गई है. बताया जा रहा है कि, इसके पहले भी संसद के नए भवन के निर्माण कार्य के दौरान महात्मा गांधी, मोतीलाल नेहरू एवं चौधरी देवी लाल की प्रतिमाओं को परिसर में ही अन्य स्थान पर स्थानांतरित किया गया था.

‘प्रेरणा स्थल' पर प्रतिमाओं के आसपास 'लॉन' एवं पुष्प वाटिकाओं का निर्माण किया गया है. यहां गणमान्य व्यक्ति एवं आगंतुक उन्हें सुगमतापूर्वक अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर सकेंगे और उनकी जीवनगाथा से प्रेरणा भी ले सकेंगे. लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान शिलापट्ट के अनावरण के पश्चात गण्यमान्य व्यक्ति प्रतिमाओं पर पुष्पांजलि भी अर्पित करेंगे.

यह भी पढ़ें -

संसद भवन परिसर में गांधी जी, आंबेडकर और शिवाजी की प्रतिमाएं स्थानांतरित करने पर विवाद

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
बजट का प्रचार करेगी बीजेपी, तीन सदस्यों की समिति का किया गठन
संसद भवन परिसर में महापुरुषों की प्रतिमाओं वाले 'प्रेरणा स्थल' का लोकार्पण रविवार को
NEET-UG के केंद्रवार परिणाम घोषित, गुजरात के राजकोट ने चौंकाया
Next Article
NEET-UG के केंद्रवार परिणाम घोषित, गुजरात के राजकोट ने चौंकाया
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;