"भारत-नेपाल की दोस्ती सभी के हित में", बुद्ध पूर्णिमा पर लुंबिनी में बोले पीएम मोदी

PM Modi In Lumbini : प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में बोधगया, कुशीनगर और सारनाथ से लेकर नेपाल में लुंबिनी तक ये हमारी सांझी विरासत के सबूत हैं.

लुंबिनी:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi In Nepal) सोमवार को नेपाल दौरे पर लुंबिनी (Lumbini) पहुंचे. उन्होंने लुंबिनी में बौद्ध सम्मेलन को संबोधित करते हुए भगवान बुद्ध के माध्यम से भारत और नेपाल के संबंधों के ऐतिहासिक महत्व के बारे में बताया. उन्होंने भारत-नेपाल संबंधों की विस्तार से चर्चा की और कहा कि दोनों देशों के संबंध एक-दूसरे के हित में हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत में बोधगया, कुशीनगर और सारनाथ से लेकर नेपाल में लुंबिनी तक ये हमारी सांझी विरासत के सबूत हैं.लुम्बिनी में बौद्ध सम्मेलन (Buddha Purnima) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, बुद्ध मानवता की सामूहिक समझ के प्रतीक हैं, भारत और नेपाल की मजबूत होती मैत्री तथा नजदीकी समूची मानवता का कल्याण करेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लुम्बिनी में बौद्ध सम्मेलन में कहा कि दोनों देशों के रिश्ते सदियों पुराने हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके गृह नगर वड नगर में भी भगवान बुद्ध की प्राचीन यात्राओं से जुड़े तमाम पौराणिक अवशेष मिले हैं और वहां उनका उत्खनन का काम जारी है. 

बुद्ध पूर्णिमा पर लुम्बिनी में PM मोदी की पूजा-अर्चना, 2020 में सीमा विवाद के बाद पहली नेपाल यात्रा

लुंबिनी में बुद्ध जयंती के मौके पर पीएम मोदी ने नेपाल ने मुझे यह ऐतिहासिक आशीर्वाद दिया है. मैंने जनकपुर में कहा था कि नेपाल के बिना भगवान राम भी अधूरे हैं. अब हम भगवान राम का मंदिर निर्माण कर रहे हैं, इससे नेपालवासी भी खुश हैं. बुद्ध अपने आप में संपूर्ण हैं, जिनका दायरा पूरे विश्व में फैला है. भगवान बुद्ध ने हमें त्याग और समर्पण की सीख दी है, उनसे हम समझ सकते हैं कि हमें क्या मूल्य सीखने चाहिए और क्या दूसरों को देने चाहिए. भारत औऱ नेपाल दोनों लुंबिनी को बौद्ध पर्यटन केंद्र के तौर पर विकसित कर सकते हैं. हम लुंबिनी के निकट एक इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट तैयार कर रहे हैं. दोनों देशों के साथ काम करने की असीम संभावनाएं हैं, क्योंकि हमारे बीच बहुत कुछ साझा विरासत है, हमारे रिश्ते हिमालय की ऊंचाइयों को छूने की संभावना रखते हैं. 

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वर्ष 2014 में शपथ लेने के बाद यह पांचवां नेपाल दौरा है. नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के शासनकाल के दौरान भारत और नेपाल के रिश्तों में थोड़ी तल्खी आई है. ओली ने कालापानी और अन्य जगहों पर नेपाल का दावा ठोका था. उन्होंने भगवान राम के जन्म को लेकर भी विवादित टिप्पणी की थी. हालांकि शेर बहादुर देउबा के प्रधानमंत्री बनने के बाद से दोनों देशों के रिश्तों में एक बार फिर सहजता दिख रही है. देउबा हाल ही में नई दिल्ली दौरे पर आए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इससे पहले सोमवार सुबह मोदी ने नेपाली पीएम शेर बहादुर देउबा के साथ मुलाकात की थी. साथ ही प्राचीन महामाया मंदिर में पूजा अर्चना की थी. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, " बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर नेपाल आगमन हुआ.  यहां के अद्भुत लोगों के बीच आकर खुश हूं और लुम्बिनी में कार्यक्रमों की प्रतीक्षा कर रहा हूं." देउबा के निमंत्रण पर पीएम मोदी बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर लुम्बिनी का एक दिनी दौरा कर रहे हैं. पीएम मोदी एक प्रतिनिधिमंडल के साथ उत्तर प्रदेश के कुशीनगर से वायु सेना के हेलीकॉप्टर से नेपाल पहुंचे. दक्षिणी नेपाल के तराई मैदानों में स्थित लुम्बिनी बौद्ध धर्म के सबसे पवित्र स्थानों में से एक है, क्योंकि वहां भगवान बुद्ध का जन्म हुआ था.