पीएम मोदी ने अपने आवास पर जम्मू-कश्मीर के लगभग हर जिले के करीब 250 वंचित छात्रों से बातचीत की

कुछ छात्रों ने सरकार द्वारा केंद्र शासित प्रदेश में शुरू किए गए विकास कार्यों के बारे में उत्साहपूर्वक बात की, वहीं एक लड़की ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की यह टिप्पणी कि वह काम से थकान महसूस नहीं करते हैं, उसे सबसे ज्यादा पसंद आई.

पीएम मोदी ने अपने आवास पर जम्मू-कश्मीर के लगभग हर जिले के करीब 250 वंचित छात्रों से बातचीत की

प्रधानमंत्री ने छात्रों से खेलों में उनकी भागीदारी के बारे में जानना चाहा.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को जम्मू कश्मीर के लगभग हर जिले के करीब 250 वंचित छात्रों से बातचीत की, जो ‘‘वतन को जानो-यूथ एक्सचेंज'' कार्यक्रम के तहत देश का दौरा कर रहे हैं. एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री के आवास पर आयोजित यह संवाद कार्यक्रम अनौपचारिक था. ये छात्र केंद्र सरकार के कार्यक्रम के तहत जयपुर, अजमेर और नयी दिल्ली का दौरा कर रहे हैं.

बयान में कहा गया है कि ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत' की भावना में इस यात्रा का उद्देश्य जम्मू-कश्मीर के युवाओं को देश की सांस्कृतिक और सामाजिक विविधता से रूबरू कराना है. प्रधानमंत्री ने छात्रों से उनके यात्रा अनुभव और उनके द्वारा देखे गए चर्चित स्थानों के बारे में पूछा तथा उनके साथ जम्मू-कश्मीर की समृद्ध खेल संस्कृति पर चर्चा की.

बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने छात्रों से खेलों में उनकी भागीदारी के बारे में जानना चाहा और जम्मू-कश्मीर की युवा तीरंदाज शीतल देवी का उदाहरण दिया, जिन्होंने हांगझू में एशियाई पैरा खेलों में तीन पदक जीते हैं. मोदी ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं की प्रतिभा की भी सराहना की और कहा कि उनमें किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्टता हासिल करने की क्षमता है. बयान में कहा गया है कि उन्होंने छात्रों को देश के विकास के लिए काम करने और योगदान देने तथा 2047 तक ‘विकसित भारत' के सपने को साकार करने में मदद करने की सलाह दी.

जम्मू-कश्मीर में दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल के निर्माण के बारे में मोदी ने कहा कि इससे क्षेत्र में कनेक्टिविटी में सुधार होगा. चंद्रयान-3 और आदित्य-एल1 मिशन की सफलता पर भी चर्चा हुई. प्रधानमंत्री ने कहा कि इन वैज्ञानिक उपलब्धियों ने हर भारतीय को गौरवान्वित किया है.

इस साल जम्मू-कश्मीर में रिकॉर्ड संख्या में पर्यटकों के आने के बारे में मोदी ने कहा कि वहां पर्यटन क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं. बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने छात्रों को रोजाना योग करने के लिए प्रोत्साहित किया. देश में स्वच्छता अभियान, कश्मीर में जी20 शिखर सम्मेलन के सफल आयोजन पर भी चर्चा की गई.

बाद में, प्रधानमंत्री ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स' पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर के छात्रों के साथ एक यादगार बातचीत हुई. उनका उत्साह और ऊर्जा वास्तव में सराहनीय है.'' कार्यक्रम के एक संक्षिप्त वीडियो में विभिन्न छात्र प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए अपने अनुभव को अद्भुत, शानदार बताते हुए नजर आए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कुछ छात्रों ने सरकार द्वारा केंद्र शासित प्रदेश में शुरू किए गए विकास कार्यों के बारे में उत्साहपूर्वक बात की, वहीं एक लड़की ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की यह टिप्पणी कि वह काम से थकान महसूस नहीं करते हैं, उसे सबसे ज्यादा पसंद आई.