Video: जब बिना ड्राइवर 100 की रफ्तार से दौड़ने लगी मालगाड़ी, फिर हुआ कुछ ऐसा....

फिरोजपुर मंडल के एडीआरएम, जे एस गुलेरिया ने बताया कि मालगाड़ी (Train Started to Run) को रोक दिया गया है. जालंधर के पास मौजूद ऊंची बस्सी गांव के पास चढ़ाई होने की वजह से स्पीड में दौड़ रही ट्रेन खुद ही रुक गई.

नई दिल्ली:

पंजाब से सटे पठानकोट के पास एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. डमटाल से चली एक मालगाड़ी (Good Train Run Without Driver) 100 किमी की स्पीड से अचानक दौड़ने लगी, हैरानी की बात यह है कि मालगाड़ी में ड्राइवर था ही नहीं. मतलब मालगाड़ी बिना ड्राइवर के ही पटरी पर दौड़ रही थी, जिसे काफी मशक्कत के बाद उच्ची बस्सी में रोका जा सका. बिना ड्राइवर के दौड़ रही मालगाड़ी से लोगों को अलर्ट करने के लिए स्टेशन पर अनाउंसमेंट कर पटरी खाली करने की अपील की गई थी. जानकारी मुताबिक, उच्ची बस्सी में बिजली की सप्लाई बंद कर ट्रेन को रोका गया, जिससे एक बड़ा हादसे होने से टल गया, तब जानकर रेलवे प्रशासन ने राहत की सांस ली.

ये भी पढ़ें-शहरों के मुकाबले ग्रामीण कंजप्शन में तेजी से हो रही बढ़ोतरी, 11 साल बाद जारी आंकड़ों से खुलासा

ऐसे रोकी गई100 की स्पीड से दौड़ रही मालगाड़ी

फिरोजपुर मंडल के एडीआरएम, जे एस गुलेरिया ने बताया कि मालगाड़ी को रोक दिया गया है. जालंधर के पास मौजूद ऊंची बस्सी गांव के पास चढ़ाई होने की वजह से स्पीड में दौड़ रही ट्रेन खुद ही रुक गई.  बता दें कि मालगाड़ी बिना ड्राइवर के कठुआ से चल कर करीब 70 किलोमीटर दूरी तय करके ऊच्ची बस्ती पहुंची थी. 

बिना ड्राइवर के दौड़ने लगी रेलगाड़ी, मचा हड़कंप

बताया जा रहा है कि यह ट्रेन कठुआ रेलवे स्टेशन पर ढलान पर खड़ी हुई थी, जो कि खुद ब खुद ही चल पड़ी. यह यह ट्रेन बिना रेड सिग्नल ही वहां से निकल गई, तब जाकर कठुआ रेलवे स्टेशन प्रशासन को पता चला.  कठुआ रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर यह ट्रेन खुले फटाक से निकली, जिसके बाद रेलवे के उच्च अधिकारियों ने जालंधर तक की सारी रेल लाइन तुरंत खाली करवाई.  53 डिब्बों वाली इस ट्रेन में पत्थर लदे हुए थे. 

कठुआ से चली और उच्ची बस्ती जाकर रुकी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बता दें कि मालगाड़ी कठुआ से रविवार सुबह 7 बजकर13 मिनट पर लाइन नंबर 3 से चली, मधुपुर पंजाब रेलवे स्टेशन से यह 7: 24 बजे  निकली,  7:30 बजे यह सुजानपुर रेलवे स्टेशन से होकर गुजरी, जिसके बाद 7:33 बजे भरौली रेलवे स्टेशन पर पहुंची. 7: 36 बजे यह पठानकोट रेलवे स्टेशन से गुजरते हुए 7:47 तक कांधरोरी रेलवे स्टेशन पर पहुंची और फिर 8:37 बजे उच्ची बस्सी पर जाकर रुकी.