कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए दावेदार मल्लिकार्जुन खड़गे ने राज्यसभा का नेता प्रतिपक्ष पद छोड़ा

मल्लिकार्जुन खड़गे के इस्तीफे के बाद राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष पद की दौड़ में दिग्विजय सिंह और पी चिदंबरम

नई दिल्ली:

वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने राजसभा (Rajya Sabha) के नेता प्रतिपक्ष (Leader of Opposition) पद से त्यागपत्र दे दिया है. सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी. खड़गे ने यह कदम अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने के एक दिन बाद उठाया. 80 वर्षीय नेता खड़गे ने अपना त्यागपत्र कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है. उन्होंने यह कदम मई में उदयपुर में आयोजित ‘चिंतन शिविर' में तय ‘एक व्यक्ति एक पद' के सिद्धांत के अनुरूप उठाया है.

सूत्रों ने बताया कि मल्लिकार्जुन खड़गे ने शुक्रवार को रात में अपना इस्तीफा सौंपा. सूत्रों के अनुसार माना जा रहा है कि वरिष्ठ नेता पी चिदबंरम और दिग्विजय सिंह राजसभा में नेता प्रतिपक्ष पद की दौड़ में सबसे आगे हैं.

गौरतलब है कि शुक्रवार को स्पष्ट हो गया कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए मुख्य मुकाबला मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच होगा. खड़गे कर्नाटक के दलित नेता हैं और इस पद के लिए प्रबल दावेदार के रूप में उभरे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष पद के तीसरे दावेदार केएन त्रिपाठी हैं, जो झारखंड के पूर्व मंत्री रह चुके हैं. हालांकि, उन्हें इस चुनाव में कमजोर प्रत्याशी माना जा रहा है.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष पद के नामांकन के आखिरी दिन खड़गे, थरूर और त्रिपाठी ने अपना-अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने 14 सेट में नामांकन दाखिल किया और उनके प्रस्तावकों में अशोक गहलोत, दिग्विजय सिंह, एके एंटनी, अंबिका सोनी, मुकुल वासनिक और जी-23 के सदस्य आनंद शर्मा, भूपेंद्र हुड्डा, पृथ्वीराज चव्हाण और मनीष तिवारी शामिल हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

बड़ी खबर : शशि थरूर-मल्लिकार्जुन खड़गे आमने सामने, नामांकन के आखिरी दिन दोनों ने भरा पर्चा