Bengal Seat Sharing: कांग्रेस को बंगाल में नहीं मिली 'ममता', TMC ने फेरा उम्मीदों पर पानी

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, "कुछ हफ्ते पहले, टीएमसी चीफ और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि टीएमसी बंगाल की सभी 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है."

Bengal Seat Sharing: कांग्रेस को बंगाल में नहीं मिली 'ममता', TMC ने फेरा उम्मीदों पर पानी

नई दिल्ली/कोलकाता:

लोकसभा चुनाव (Loksabha Elections 2024) में बीजेपी (BJP) के खिलाफ अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) से हाथ मिलाने के बाद कांग्रेस (Congress) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को साथ लाने की कोशिश कर रही थी. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी ने कांग्रेस से गठबंधन करके 17 सीटें दी हैं. जबकि आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के साथ दिल्ली, हरियाणा, गुजरात, गोवा और चंडीगढ़ के लिए हाथ मिलाया है. इनके ऐलान के बाद कांग्रेस ने टीएमसी के साथ सीट बंटवारे को लेकर बातचीत की कोशिश की. लेकिन शुक्रवार शाम को टीएमसी की ओर से बयान जारी किया गया कि हमारे रुख में कोई बदलाव नहीं है. हम बंगाल की सभी 42 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेंगे.

टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, "कुछ हफ्ते पहले, टीएमसी चीफ और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि टीएमसी बंगाल की सभी 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. हम असम की कुछ सीटों और मेघालय की तुरा लोकसभा सीट पर भी अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतारेंगे. हमारे इस रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है."

बंगाल में कहां फंसा है पेंच?
सूत्रों के मुताबिक, बंगाल में ममता बनर्जी कांग्रेस को सिर्फ दो सीटें देना चाहती है. जबकि कांग्रेस ने अभी पांच सीटें मांग रही है. अपनी बात पर अडिग ममता बनर्जी का कहना है कि कांग्रेस ने साल 2019 में केवल दो सीटों पर जीत हासिल की थी, वही सीटें इस बार कांग्रेस को टीएमसी देने के लिए तैयार है. कांग्रेस बंगाल में पिछली बार जीती गई बरहामपुर और मालदा (दक्षिण) के अलावा भाजपा के कब्जे वाली दार्जिलिंग, मालदा (उत्तर) और रायगंज और पुरुलिया सीटें चाहती है. हालांकि, इन सभी सीटों पर ममता बनर्जी के मानने की संभावना कम ही दिख रही है. 

वहीं, सूत्रों का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस असम में दो और मेघालय में एक सीट अपने लिए चाहती है, हालांकि कांग्रेस मेघालय में सीट देने के पक्ष में नहीं है. असम में लोकसभा की 14 और मेघालय में दो सीटें हैं.

ममता पहले भी 'एकला चलो रे' का दे चुकी मैसेज
इससे पहले ममता बनर्जी ने बंगाल की 42 सीटों पर 'एकला चलो रे' का मैसेज देते हुए अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. पहले कांग्रेस को 42 में से 2 सीटें देने का ऑफर था. लेकिन कांग्रेस इससे ज्यादा की मांग कर रही थी. जिसके बाद ममता ने कहा, "पश्चिम बंगाल में सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस ने मेरा प्रस्ताव ठुकराया दिया. हम बंगाल में अकेले चुनाव लड़ेंगे."

ममता बनर्जी ने कहा था, "मैंने हमेशा कहा है कि बंगाल में हम अकेले लड़ेंगे. हम सेक्युलर पार्टी हैं. बंगाल में हम अकेले बीजेपी को हराएंगे. हालांकि, मैं अब भी INDIA अलायंस का हिस्सा हूं."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com