“केरल सरकार की कार्रवाई से हो रही चरमपंथियों की मदद”; हेट स्पीच मामले में पीसी जॉर्ज की गिरफ्तारी पर केसी वेणुगोपाल का बयान

एएनआई से बात करते हुए केसी वेणुगोपाल ने कहा, "ये सभी केरल सरकार द्वारा बनाए गए नाटक हैं. दरअसल, केरल सरकार की कार्रवाई अब इस मुद्दे को हल करने या राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए नहीं है. उनकी कार्रवाई परोक्ष रूप से ऐसे चरमपंथियों की मदद कर रही है , जो लोग लोगों के बीच नफरत फैलाना चाहते हैं.

“केरल सरकार की कार्रवाई से हो रही चरमपंथियों की मदद”; हेट स्पीच मामले में पीसी जॉर्ज की गिरफ्तारी पर केसी वेणुगोपाल का बयान

पीसी जॉर्ज की याचिका पर शुक्रवार को होगी सुनवाई

कोच्चि:

AICC महासचिव केसी वेणुगोपाल ने गुरुवार को दावा किया कि केरल सरकार की निष्क्रियता परोक्ष रूप से चरमपंथियों की मदद कर रही है. AICC महासचिव का यह आरोप अभद्र भाषा मामले में पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज की गिरफ्तारी के बाद आया है. एएनआई से बात करते हुए वेणुगोपाल ने कहा, "ये सभी केरल सरकार द्वारा बनाए गए नाटक हैं. दरअसल, केरल सरकार की कार्रवाई अब इस मुद्दे को हल करने या राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए नहीं है. उनकी कार्रवाई परोक्ष रूप से ऐसे चरमपंथियों की मदद कर रही है , जो लोग लोगों के बीच नफरत फैलाना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि केरल सरकार अब यही कर रही है. मुझे लगता है कि ये सब नाटक हैं जो वे कर रहे हैं, स्थिति को हल करने के लिए कुछ भी नहीं है." पीसी जॉर्ज अब तिरुवनंतपुरम में दर्ज मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में है. कथित हेट स्पीच मामले में गुरुवार को जिला अदालत ने पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. बुधवार को केरल पुलिस ने जॉर्ज को कथित तौर पर अभद्र भाषा के आरोप में उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में गिरफ्तार किया था.

केरल उच्च न्यायालय ने सोमवार को 8 मई को एर्नाकुलम जिले के वेन्नाला में महादेव मंदिर में एक अन्य अभद्र भाषा मामले में पीसी जॉर्ज को अंतरिम जमानत दे दी. गिरफ्तारी 30 अप्रैल को तिरुवनंतपुरम में अनंतपुरी हिंदू महा सम्मेलन में मुसलमानों के खिलाफ कथित अभद्र भाषा के एक मामले में दर्ज की गई थी. इस बीच हेट स्पीच मामले में केरल हाईकोर्ट पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज की याचिका पर शुक्रवार दोपहर 1.45 बजे सुनवाई करेगा.

ये भी पढ़ें: International Booker Prize : हिंदी की लेखिका गीतांजलि श्री ने लिखी सफलता की नई इबारत, 'रेत की समाधि' से दिलाया पहला बुकर

जस्टिस गोपीनाथ पी की सिंगल बेंच ने सरकारी वकील से कहा, "मैं आपको जवाब देने के लिए उचित समय दूंगा, मैं आपकी सुनवाई से पहले मामले का फैसला नहीं करना चाहता. लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि हिरासत में पूछताछ से आप क्या हासिल करना चाहते हैं. इस तरह के मामले में? मैं आपको समय दूंगा, आप निर्देश मिलने के बाद इस प्रश्न का उत्तर दे सकते हैं."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: जम्मू कश्‍मीर : सुरक्षाबलों ने दो अलग-अलग एनकाउंटर में 4 आतंकियों को किया ढेर | पढ़ें