कर्नाटक सरकार ने रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्‍पीकर के इस्‍तेमाल पर लगाया बैन 

कर्नाटक सरकार ने कहा है कि लाउडस्‍पीकर या लोगों को संबोधित करने की प्रणाली को बिना अधिकृत अधिकारी की इजाजत के इस्‍तेमाल नहीं किया जा सकेगा.

बेंगलुरु :

कर्नाटर सरकार (Karnataka Government) ने लाउडस्‍पीकर (Loudspeaker) को लेकर जारी बहस के बीच रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्‍पीकर के इस्‍तेमाल पर बैन लगा दिया है. कर्नाटक सरकार ने कहा है कि लाउडस्‍पीकर या लोगों को संबोधित करने की प्रणाली को बिना अधिकृत अधिकारी की इजाजत के इस्‍तेमाल नहीं किया जा सकेगा. सरकार की ओर से जारी सर्कुलर के मुताबिक, "लाउडस्‍पीकर या लोगों को संबोधित करने की प्रणाली का (रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक) ऑडिटोरियम, कांफ्रेंस रूम, कम्‍युनिटी हॉल और बैंकेट हॉल को छोड़कर इस्‍तेमाल नहीं किया जा सकेगा." 

सर्कुलर में सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश का हवाला दिया गया है. इसमें कहा गया है कि सार्वजनिक स्थान पर जहां लाउडस्पीकर या पब्लिक एड्रेस सिस्टम या किसी अन्य स्रोत का उपयोग किया जा रहा है, वहां पर क्षेत्र के परिवेश के आधार पर आवाज 10 डीबी (ए) या 75 डीबी (ए) में से जो भी कम हो, से अधिक नहीं होनी चाहिए. 

'लाउडस्‍पीकर उठाएं लेकिन...'- आदित्‍य ठाकरे ने अपने अंकल राज ठाकरे पर साधा निशाना

सर्कुलर के मुताबिक, "राज्य सरकार दोहराती है कि ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम 2000 के तहत सरकार के आदेश का कड़ाई से पालन किया जाना है और लाउडस्पीकरों/पब्लिक एड्रेस सिस्टम और ध्वनि उत्पन्न करने वाले उपकरणों से ध्वनि प्रदूषण के नियंत्रण के लिए लागू किया जाना है." 

'लोग अपनी मर्जी से लाउडस्‍पीकर उतार रहे' - NDTV से बोले UP के ADG प्रशांत कुमार

लाउडस्पीकरों विवाद उस वक्‍त शुरू हुआ जब 12 अप्रैल को मनसे प्रमुख ने महाराष्ट्र सरकार को 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का अल्टीमेटम दिया, जिसमें विफल होने पर उन्होंने चेतावनी दी कि मनसे कार्यकर्ता लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाएंगे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज ठाकरे के खिलाफ मंगलवार को मामला दर्ज किया गया था, जब उन्होंने लोगों से लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाने की अपील की थी, जहां 'अजान' के लिए लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया जाता है.