"न्याय जरूर मिलना चाहिए...": लखीमपुर कांड के एक साल पूरा होने पर बोले मृतक किसान के पिता

हिंसा में मारे गए प्रदर्शनकारी केंद्र के उन तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें बाद में सरकार ने वापस ले लिया था. अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा हिंसा के इस मामले में आरोपी हैं

लखीमपुर-खीरी कांड को आज एक साल पूरा हो गया है. पिछले साल लखीमपुरी खीरी में चार किसानों और एक पत्रकार को गाड़ी तले रौंद दिया गया था. इस मामले में गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा आरोपी हैं. वहीं एक साल पूरे होने के मौके पर आज गुरुद्वारे में तिकुनिया कांड के मृतकों को श्रद्धांजलि देने के लिए लोग जुटे. NDTV ने इस मौके पर घटना में मारे गए एक किसान के पिता सुखविंदर सिंह से बात की. जब उनसे पूछा गया कि उन्हें लगता हैं न्याय मिलेगा. इसपर उन्होंने कहा कि, न्याय जरूर मिलना चाहिए... ट्रायल शुरू न होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार उनकी, जब चाहे शुरू कर सकते हैं. 10 दिन लगा दें या 10 साल....उनके ऊपर....सरकार ने कोई भी वादा पूरा नहीं किया है. वहीं अजय मिश्रा पर बात करते हुए भारतीय किसान यूनियन के नेता ने कहा कि, अजय मिश्रा भी साजिश में शामिल हैं. उनको पद से हटाना चाहिए. 

ये भी पढ़ें- फ्लाइट में बम की ख़बर, दिल्ली एयरपोर्ट पर नहीं दी गई लैंडिंग की इजाज़त, उड़ान को चीन भेजा गया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ किसान तीन अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर-खीरी के तिकुनिया गांव में विरोध प्रदर्शन कर रहे थे और इसी दौरान कार से कुचलकर चार लोगों की मौत हो गई थी. इसके बाद की हिंसा में दो भाजपा कार्यकर्ताओं और एक पत्रकार सहित चार अन्य लोग मारे गए थे. हिंसा में मारे गए प्रदर्शनकारी केंद्र के उन तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे, जिन्हें बाद में सरकार ने वापस ले लिया था. अजय कुमार मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा हिंसा के इस मामले में आरोपी हैं और इस समय ये जेल में बंद हैं.