जम्मू-कश्मीर : श्रीनगर में आतंकियों की फायरिंग में पुलिसकर्मी जख्मी, सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरा

हमले के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है. सुरक्षाबल फायरिंग करने वाले आतंकियों को तलाश रहे हैं.

जम्मू-कश्मीर : श्रीनगर में आतंकियों की फायरिंग में पुलिसकर्मी जख्मी, सुरक्षाबलों ने इलाके को घेरा

आतंकियों के हमले में पुलिसकर्मी मोहम्‍मद हाफिज चाड घायल हो गए. (प्रतीकात्‍मक)

खास बातें

  • श्रीनगर में आतंकियों के हमले में एक पुलिसकर्मी घायल हो गए
  • हमले के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है
  • आतंकियों के हमले में पुलिसकर्मी मोहम्‍मद हाफिज चाड घायल हो गए
श्रीनगर:

जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) के श्रीनगर में आतंकियों के हमले (Terrorist Attack) में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया, जिसे अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है. आतंकियों ने श्रीनगर के बेमिना इलाकों में फायरिंग की है. हमले के बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है. सुरक्षाबलों की ओर से लगातार फायरिंग करने वाले आतंकियों की तलाश की जा रही है. इससे पहले, 29 अक्‍टूबर को श्रीनगर में एक पुलिसकर्मी पर फायरिंग की गई थी, जिनका गुरुवार को दिल्‍ली में निधन हो गया. 

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, आतंकियों के हमले में पुलिसकर्मी मोहम्‍मद हाफिज चाड घायल हो गए, जिनका इलाज किया जा रहा है. 

कश्मीर जोन पुलिस ने एक्स पर हमले के बारे में एक पोस्ट किया है, जिसमें उन्‍होंने लिखा, "आतंकवादियों ने हमदानिया कॉलोनी बेमिना में पुलिसकर्मी मोहम्मद हाफिज चाड पुत्र जीएच हसन चाड निवासी बेमिना पर गोलीबारी की और उन्‍हें घायल कर दिया. उन्‍हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इलाके की घेराबंदी कर दी गई है."

मूलरूप से करनाह के रहने वाले हैं चाड 

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने कहा कि मोहम्मद हाफिज चाड उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के करनाह के रहने वाले हैं और वर्तमान में बेमिना में रहते हैं. 

29 अक्‍टूबर को भी आतंकियों ने की थी वारदात 

बता दें कि श्रीनगर स्थित ईदगाह मैदान में 29 अक्‍टूबर को आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के निरीक्षक मसरूर वानी को गोली मार दी थी, जिन्‍हें बाद में इलाज के लिए दिल्‍ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था. गुरुवार को उनकी मौत हो गई. 

ये भी पढ़ें :

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

* "सरकार को हमें नजरबंद रखने के लिए..." : J&K से अनुच्छेद-370 हटाए जाने पर SC के फैसले से पहले उमर अब्दुल्ला
* J&K का विशेष दर्जा खत्म करने को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट सोमवार को सुनाएगा फैसला
* जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम पर न्यायालय का फैसला लंबित है, केंद्र इसमें संशोधन न करे: उमर अब्दुल्ला