सोनिया- स्मृति ईरानी विवाद पर NCP नेता सुप्रिया सुले ने बताया, 'आखिर हुआ क्या था'

पूरे घटनाक्रम के दौरान सोनिया गांधी को अपने साथ लेकर जाने वाली सुप्रिया सुले ने कहा है कि मैं उस जगह पर देर से पहुंची इस कारण दोनों ही नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई इसकी उन्हें जानकारी नहीं है. 

सोनिया- स्मृति ईरानी विवाद पर NCP नेता  सुप्रिया सुले ने बताया, 'आखिर हुआ क्या था'

सुप्रिया सुले ने कहा कि जब मैं वहां पहुंची तो सोनिया गांधी किसी से भी बातचीत नहीं कर रही थी

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर दिए गए बयान को लेकर जारी हंगामें के बीच सोनिया गांधी और स्मृति ईरानी के बीच विवाद देखने को मिली. स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया कि सोनिया गांधी ने उनसे कहा कि  "मुझसे बात मत कीजिए..." पूरे घटनाक्रम के दौरान सोनिया गांधी को अपने साथ लेकर जाने वाली सुप्रिया सुले ने कहा है कि मैं उस जगह पर देर से पहुंची इस कारण दोनों ही नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई इसकी उन्हें जानकारी नहीं है. 

एनसीपी नेता ने कहा कि स्मृति ईरानी का कहना है कि सोनिया गांधी ने उन्हें धमकाया लेकिन अगर इमानदारी से मैं कहूं तो मैं वहां देर से पहुंची थी. जब मैं वहां पहुंची तो सोनिया गांधी किसी से भी बातचीत नहीं कर रहीं थी. वहां कई सांसद पहुंचे हुए थे. काफी हंगामा हो रहा था.उन्होंने कहा, "सोनिया जी ने मुझसे कहा कि वह रमा देवी से बात करने गई थीं और उन्होंने बातचीत की और फिर बहुत हंगामा हुआ." इसलिए कोई नहीं बता  सकता कि वहां पर क्या हुआ. सुप्रिया सुले ने कहा कि घटनाक्रम के दौरान वह सोनिया गांधी के पास गई थीं और उन्होंने उनसे कहा था कि यह बातचीत कहीं बाहर नहीं जा रहा है. जिसके बाद वो पूरी विनम्रता के साथ मेरे साथ निकल पड़ी और मैंने उन्हें कार तक छोड़ दिया. एनसीपी नेता ने कहा कि संसद काफी पवित्र स्थल है और मुझे लगता है कि हममें से किसी को भी किसी को गुमराह नहीं करना चाहिए. हम सब यहां काम करने आते हैं. हम में से हर एक सदस्य को लोकतंत्र के इस मंदिर की गरिमा को बनाए रखने के लिए प्रयास करना चाहिए.

सूत्रों के मुताबिक, दोपहर 12 बजे सदन की कार्यवाही स्थगित हो जाने के बाद BJP सांसद "सोनिया गांधी इस्तीफा दो" के नारे लगा रहे थे. उस वक्त सोनिया गांधी सदन से बाहर जा रही थीं, लेकिन नारेबाज़ी के बीच सोनिया लौटकर BJP सांसद रमादेवी के पास गईं और बताया कि अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांग ली है. इसी दौरान, जब सोनिया बात कर रही थीं, तब उनके साथ रवनीत सिंह बिट्टू और गौरव गोगोई थे. जानकारी के अनुसार  सोनिया गांधी ने रमा देवी से पूछा, "मेरा नाम क्यों लिया जा रहा है..." तभी स्मृति इरानी वहां आईं और कहा, "Maam, May I help You... आपका नाम मैंने लिया था..." तब सोनिया गांधी ने उनसे कहा, "Don't talk to me..." 

ये भी पढ़ें-

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video :"अचानक निकल गया, चूक हो गई": 'राष्ट्रपत्नी' विवाद पर अधीर रंजन चौधरी की सफाई