'राष्ट्रपत्नी' विवाद : जब सफाई देने के लिए BJP सांसद के पास पहुंचीं सोनिया गांधी, पार्टी नेता के बयान पर मचा है घमासान

कांग्रेस अध्यक्ष ने ये कदम तब उठाया जब गुरुवार को संसद की कार्यवाही के दौरान मंत्री ने कांग्रेस सांसद के बयान का मुद्दा मजबूती से उठाते हुए सोनिया गांधी से पूरे प्रकरण पर माफी मांगने को कहा था.  

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'राष्ट्रपत्नी' कहे जाने पर लोकसभा में हुए ज़ोरदार हंगामे के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सदन में दूसरी तरफ मौजूद भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद रमा देवी के पास चलकर गईं.

यह नाटकीय दृश्य तब उपस्थित हुआ, जब BJP के सांसद सोनिया गांधी के खिलाफ नारेबाज़ी कर रहे थे. BJP के सदस्य तख्यियां उठाए खड़े थे, और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सदन में कहा, "सोनिया गांधी, माफी मांगो..."

दरअसल, सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद सोनिया बीजेपी सांसद रमा देवी से बात करने के लिए गईं, ताकि स्पष्ट किया जा सके कि पूरे मामले में अधीर रंजन चौधरी ने माफी मांगी है. हालांकि, तब तक स्मृति ईरानी व अन्य मंत्री पहुंच गईं और उन्होंने बातचीत के बीच हस्तक्षेप किया और नारे लगाए. तभी टीएमसी सांसदों और सुप्रिया सुले ने सोनिया गांधी का बचाव किया. वहीं, संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने स्थिति को सामान्य करने के लिए हस्तक्षेप किया.

स्मृति ईरानी ने कहा, "सोनिया गांधी, आपने द्रौपदी मुर्मू के अपमान को मंज़ूरी दी... सोनिया जी ने देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर विराजी महिला के अपमान को मंज़ूरी दी..."

सदन के बाहर यह पूछे जाने पर कि क्या अधीर रंजन चौधरी इस टिप्पणी के लिए माफी मांगेंगे, सोनिया गांधी ने NDTV से कहा, "वह पहले ही माफी मांग चुके हैं..."

बता दें कि लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत में राष्ट्रपति के लिए ‘राष्ट्रपत्नी' शब्द का उपयोग कर दिया था. राष्ट्रपति के बारे में की गई अपनी उक्त टिप्पणी पर सफाई देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि उनके मुंह से चूकवश एक शब्द निकल गया और बीजेपी के पास कोई मुद्दा नहीं है, इसलिए वह इसे उठा रही है.

दरअसल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को 'अपमान' करने का आरोप लगाते हुए गुरुवार को लोकसभा में विरोध प्रदर्शन किया और कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा उन्हें 'राष्ट्रपत्नी' कहे जाने के बाद माफी की मांग की है. वहीं, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के नेतृत्व में भी कुछ सांसदों को संसद परिसर में तख्तियों के साथ टिप्पणी का विरोध करते हुए देखा गया. सीतारमण ने इसे 'लिंगभेदी अपमान' करार दिया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
       

यह भी पढ़ें - 
-- स्वतंत्र देव सिंह ने यूपी के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से इस्तीफा दिया : सूत्र
-- बिहार के न्यायाधीश ने अपने निलंबन को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी