"अपने बिस्‍तर पर सोए... सुबह 6:40 बजे किया नाश्ता": तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल की पहली रात

तिहाड़ जेल के सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल को डाइबिटीज है, इसलिए उन्हें सोमवार शाम घर का बना खाना और दवा लेने की अनुमति दी गई. दिल्ली के सीएम को एक आइसोलेशन रूम देते हुए तीन किताबें रखने के लिए एक टेबल और एक कुर्सी मुहैया कराई गई.

अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ की जेल नंबर 2 में रखा गया है...

नई दिल्‍ली :

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) लगभग 10 साल बाद एक बार फिर तिहाड़ जेल (Tihar Jail) की सलाखों के पीछे हैं. इस बार हाई सिक्योरिटी वाले खतरे को देखते हुए दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री केजरीवाल के लिए सुरक्षा के पुख्‍ता इंतजाम किये गए हैं. सीसीटीवी के अलावा सेल के बाहर सुरक्षाकर्मी भी तैनात हैं इस बार केजरीवाल मुख्यमंत्री के रूप में जेल भेजे गए है. दिल्‍ली की शराब नीति (Delhi Liquor Policy Case) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी अरविंद केजरीवाल को तिहाड़ की जेल नंबर 2 में रखा गया है. आइए आपको बताते हैं तिहाड़ जेल में कैसी कटी अरविंद केजरीवाल की पहली रात...!

तिहाड़ जेल के सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल को डाइबिटीज है, इसलिए उन्हें सोमवार शाम घर का बना खाना और दवा लेने की अनुमति दी गई. दिल्ली के सीएम को एक आइसोलेशन रूम देते हुए तीन किताबें रखने के लिए एक टेबल और एक कुर्सी मुहैया कराई गई. जेल नंबर 2 में केजरीवाल अपने खुद के बिस्तर पर सोए थे, जो जेल द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले नियमित बिस्तर से अलग था.

आज केजरीवाल स्वयं जल्दी उठ गये. उन्हें 6:40 बजे नाश्ता और चाय दिया गया.  डायबिटीज़ को ध्यान में रखते हुए केजरीवाल को शुगर सेंसर और ग्लूकोमीटर, इसबगोल, ग्लूकोज, और अचानक सुगर कम होने पर जेल सुप्रिटेडेंट को टॉफ़ी देने को कहा गया है. दोपहर के भोजन के बाद, उन्हें दोपहर 12 बजे अपने सेल में वापस जाना होगा और दोपहर 3 बजे तक वहीं रहना होगा.

इसके अलावा उन्हें एक आइसोलेशन रूम देते हुए टेबल-कुर्सी भी मुहैया कराई गई है. दिल्ली के सीएम को एक आइसोलेशन रूम देते हुए तीन किताबें रखने के लिए एक टेबल और एक कुर्सी मुहैया कराई गई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें:-