संदिग्ध आतंकियों को लेकर नांदेड़ और हैदराबाद रवाना हरियाणा पुलिस, विस्फोटक छिपाने वाली जगह की कराई जाएगी पहचान

करनाल पुलिस ने चारों संदिग्ध आतंकियों को उस समय गिरफ्तार किया था, जब वे इनोवा गाड़ी के जरिए पंजाब से दिल्ली की तरफ जा रहे थे.

संदिग्ध आतंकियों को लेकर नांदेड़ और हैदराबाद रवाना हरियाणा पुलिस, विस्फोटक छिपाने वाली जगह की कराई जाएगी पहचान

हरियाणा पुलिस मामले की जांच में जुटी

नई दिल्ली:

करनाल के बसताड़ा टोल से 5 मई को पकड़े गए चारों संदिग्ध आतंकियों को हरियाणा पुलिस नांदेड़ और हैदराबाद लेकर पहुंच रही है. कल ही पुलिस टीम हरियाणा से नांदेड़ और तेलगांना के लिए रवाना हुई थी. ताजा जानकारी के मुताबिक पहले नांदेड़ में उस लोकेशन की आतंकियों से शिनाख्त कराई जाएगी, जहां उन्होंने विस्फोटक की खेप पहुचाई थी.

इसके बाद हरियाणा पुलिस आतंकियों को लेकिन तेलंगाना जाएगी. जहा इस बार विस्फोटक हथियारों की खेप डिलेवरी करना था उस जगह की भी शिनाख्त की जाएगी. हरियाणा पुलिस ने उस नंबर की साइबर जांच कराई जिसके जरिये रिन्दा पंजाब में इन आतंकियों से बात करता था उन नंबर का IP पाकिस्तान का ही आया है

चारों संदिग्ध आतंकियों की 10 दिन का रिमांड पुरी हो चुकी है. पुलिस ने मामले में और खुलासे की बात कहते हुए कोर्ट से आरोपियों की रिमांड बढ़ाने की याचिका दायर की. करनाल पुलिस ने चारों संदिग्ध आतंकियों को उस समय गिरफ्तार किया था, जब वे इनोवा गाड़ी से पंजाब से दिल्ली की तरफ जा रहे थे. आरोपी गुरप्रीत, अमनदीप, परविंदर और भूपिंदर पंजाब के रहने वाले हैं. 

ये भी पढ़ें: 'यहां तक कि कुत्ता भी..' असदुद्दीन ओवैसी के औरंगजेब प्रेम पर बरसे BJP नेता देवेंद्र फडणवीस

जिसमें से तीन फिरोजपुर और एक लुधियाना का है. पुलिस ने उनके पास से कैश और विस्फोटक से भरे 3 लोहे के कंटेनर बरामद किए थे. कहा ये जा रहा कि चारों पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा के इशारे पर काम कर रहे थे. रिंदा ने ही इन्हें असलहा सप्लाई किया था और उसे आदिलाबाद (तेलंगाना) में पहुंचाने का काम सौंपा था. इसके बदले चारों को मोटी रकम मिलनी थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: वाराणसी: ज्ञानवापी परिसर में आज फिर होगा सर्वे, कल तक सौंपी जानी है कोर्ट को रिपोर्ट