हापुड़ : राशन कार्ड धारकों को जून से नहीं मिलेगा गेहूं, सिर्फ चावल वितरण के आदेश

गेहूं के उत्पादन और सरकारी खरीद में भारी गिरावट की वजह से राशन वितरण पर भी संकट मंडरा रहा है. हापुड़ में 36 हजार मेट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य के मुकाबले सिर्फ 2.5 प्रतिशत ही खरीद हुई है.

हापुड़:

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत पात्र राशन कार्ड धारकों को अब गेहूं की जगह चावल दिया जाएगा. दरअसल, इसी साल मई से सितंबर तक 5 महीने के लिए उत्तर प्रदेश के लिए 5 किलोग्राम खाद्यान्न प्रति व्यक्ति निशुल्क अतिरिक्त खाद्यान्न का आवंटन देने का फैसला लिया गया था. लेकिन इस वर्ष गेहूं की कम पैदावार के चलते हापुड़ प्रशासन ने जून 2022 से सितंबर 2022 तक 3 किलोग्राम गेहूं तथा 2 किलोग्राम चावल प्रति व्यक्ति प्रतिमाह के स्थान पर कुल 5 किलोग्राम चावल वितरण किया जाएगा.

जानकारी के मुताबिक गेहूं के उत्पादन और सरकारी खरीद में भारी गिरावट की वजह से राशन वितरण पर भी संकट मंडरा रहा है. हापुड़ में 36 हजार मेट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य के मुकाबले सिर्फ 2.5 प्रतिशत ही खरीद हुई है. जिसके मद्देनजर हापुड़ में प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत मिलने वाले तीन किलो गेंहू वितरण बंद हो गया है. इसके स्थान पर सितंबर तक गेहूं के बदले 5 किलो चावल निशुल्क मिलेगा.

इस मामले में जानकारी देते हुए हापुड़ के जिला पूर्ति अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि जून माह से गेहूं के बदले 5 किलो चावल दिया जाएगा. पहले 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल दिया जाता था, लेकिन इसे बंद करते हुए सिर्फ चावल देने का फैसला लिया गया है.

यह भी पढ़ें:
उत्तर प्रदेश में सरकारी चिट्ठी ने मचाया हड़कंप, राशन कार्ड वापस करने वालों का तांता लगा
गाजियाबाद : वसूली के डर से राशन कार्ड सरेंडर करने दौड़े चले आए लोग, जानें पूरा मामला
राशन कार्ड सत्यापन को लेकर वरुण गांधी ने यूपी सरकार पर साधा निशाना, विपक्ष भी हुआ हमलावर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रवीश कुमार का प्राइम टाइम : यूपी में राशन कार्ड का हाहाकार | पढ़ें