विज्ञापन
Story ProgressBack

"खाली छोड़ दो...": टीचर ने NEET पेपर हल करने के लिए अभ्यर्थियों से मांगे 10 लाख रुपये

आरोपी और अभ्यर्थियों के बीच हुई सहमति के मुताबिक उन्हें उन सवालों को खाली छोड़ने को कहा गया था, जिनका जवाब उन्हें नहीं पता था. प्राथमिकी के मुताबिक, परीक्षा के बाद प्रश्नपत्रों को वापस लेने के बाद उन खाली प्रश्नों के जवाब लिखे जाने थे.

Read Time: 3 mins
"खाली छोड़ दो...": टीचर ने NEET पेपर हल करने के लिए अभ्यर्थियों से मांगे 10 लाख रुपये
नीट में नकल के लिए शिक्षक और दो अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, सात लाख रुपये जब्त
गोधरा:

गुजरात के पंचमहल जिले के गोधरा में एक स्कूल के शिक्षक और दो अन्य लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा ( NEEt)-स्नातक में शामिल हुए छह अभ्यर्थियों की मदद का प्रयास करने में उनकी कथित संलिप्तता के लिए मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने प्रत्येक अभ्यर्थी से 10-10 लाख रुपये लेकर उनके प्रश्नपत्र को हल करने का वादा किया था. मामले की एफआईआर में बताया गया है कि चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए रविवार को नीट-स्नातक का आयोजन गोधरा के एक स्कूल में किया गया था, जिसमें कुछ लोगों के नकल कराने में शामिल होने की गुप्त सूचना जिलाधिकारी को मिली थी.

पुलिस ने बताया कि परीक्षा केंद्र के उपाधीक्षक और भौतिक विज्ञान के शिक्षक तुषार भट्ट तथा परशुराम रॉय एवं आरिफ वोरा नाम के दो लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस के अनुसार, भट्ट की कार से सात लाख रुपये भी बरामद किये गये, जो उसे वोरा ने एक अभ्यर्थी की मदद करने के लिए अग्रिम भुगतान के तौर पर दिये थे, ताकि उस अभ्यर्थी का नाम मेधा सूची में आ सके.

पुलिस के मुताबिक, आरोपी और अभ्यर्थियों के बीच हुई सहमति के मुताबिक उन्हें उन सवालों को खाली छोड़ने को कहा गया था, जिनका जवाब उन्हें नहीं पता था. प्राथमिकी के मुताबिक, परीक्षा के बाद प्रश्नपत्रों को वापस लेने के बाद उन खाली प्रश्नों के जवाब लिखे जाने थे. जिला शिक्षा अधिकारी की शिकायत के आधार पर गोधरा तालुका थाने में दर्ज की गयी प्राथमिकी के मुताबिक, भट्ट, जय जालाराम स्कूल में एक शिक्षक के रूप में काम करता है और उसे शहर में नीट के लिए केंद्र का उपाधीक्षक नियुक्त किया गया था.

प्राथमिकी के मुताबिक, अतिरिक्त जिलाधिकारी और जिला शिक्षा अधिकारी की एक टीम परीक्षा के दिन स्कूल पहुंची और भट्ट से पूछताछ की. प्राथमिकी में कहा गया है कि जब उसके (भट्ट के) मोबाइल फोन की जांच की गयी तो उसमें से 16 अभ्यर्थियों की सूची प्राप्त हुई, जिसमें उनके नाम, क्रमांक संख्या और परीक्षा केंद्र लिखे हुए थे और यह सूची सह-आरोपी रॉय ने उसके व्हाट्सऐप नंबर पर भेजी थी.

पुलिस जांच दल ने शिक्षक का मोबाइल फोन, नकदी और वह कार जब्त कर ली, जिससे नकदी बरामद हुई थी और जिलाधिकारी को एक रिपोर्ट दाखिल की. जिलाधिकारी ने बाद में प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया. पुलिस ने बताया कि प्राथमिकी बुधवार देर रात दर्ज की गयी और मामले में कार्रवाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें:- कांग्रेस ने NEET ‘पेपर लीक' को लेकर BJP पर साधा निशाना, छात्रों के सपनों के साथ धोखा बताया

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
सुप्रीम कोर्ट को मिले 2 नए जज, जस्टिस एन कोटिश्वर सिंह और जस्टिस आर महादेवन ने ली शपथ
"खाली छोड़ दो...": टीचर ने NEET पेपर हल करने के लिए अभ्यर्थियों से मांगे 10 लाख रुपये
केजरीवाल जानबूझकर वजन कम कर रहे, अक्सर घर का खाना लौटा देते हैं : तिहाड़ प्रबंधन की रिपोर्ट
Next Article
केजरीवाल जानबूझकर वजन कम कर रहे, अक्सर घर का खाना लौटा देते हैं : तिहाड़ प्रबंधन की रिपोर्ट
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;