दिल्‍ली : टू-व्‍हीलर-ऑटो पर पाबंदी नहीं, रविवार को चल सकेंगी सभी गाड़ियां : सतेंद्र जैन

दिल्‍ली : टू-व्‍हीलर-ऑटो पर पाबंदी नहीं, रविवार को चल सकेंगी सभी गाड़ियां : सतेंद्र जैन

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

नई दिल्‍ली:

दिल्‍ली सरकार के मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्‍ली में दुपहिया वाहनों और ऑटो पर सम-विषम फॉर्मूला लागू नहीं होगा। यानि दुपहिया वाहन और ऑटो रिक्‍शा रोजाना सड़कों पर दौड़ पाएंगे। मंत्री ने स्‍पष्‍ट करते हुए कहा कि रविवार को किसी गाड़ी पर रोक नहीं होगी और दिल्‍ली आने वाली हर निजी गाड़ी पर यह नियम लागू होगा। सतेंद्र जैन ने कहा कि इस फॉर्मूला के आदेश को लागू कराना दिल्‍ली पुलिस का काम है। उनके अनुसार, डीटीसी बसों की संख्या 20 फ़ीसदी बढ़ाई जाएगी और हम कोशिश कर रहे हैं कि मेट्रो के फेरे भी बढ़ाए जाएं।

(ये भी पढ़ें-दिल्‍ली में सम-विषम अंकों की गाड़ी चलाने के फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका)

मंगल, गुरु, शनि को 'सम' और सोम, बुध, शुक्र को 'विषम' नंबर की गाड़ियां चलेंगी
इससे पहले दिल्‍ली में प्रदूषण कम करने की कवायद के अंतर्गत दिल्‍ली सरकार द्वारा तय किए नए नियम के तहत किस दिन कौन से नंबरों की गाड़ियां सड़कों पर दौड़ेंगी, इस बाबत कल ही जानकारी सामने आ गई थी। दिल्‍ली सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सतेंद्र जैन ने बताया, राजधानी की सड़कों पर मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सम नंबरों की गाड़ियां दौड़ेंगी, जबकि सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को विषम नंबर की गाड़ियां चलेंगी। यानि 0,2,4,6,8, के नंबर वाली गाड़ियां मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सड़कों पर चलेंगी, जबकि 1,3,5,7,9 की गाड़ियां सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को चल सकेंगी।

मंत्रियों और नौकरशाहों पर भी लागू होगा नियम
जैन ने कहा, 'इमरजेंसी वाहनों जैसे पीसीआर वैन, दमकल की गाड़ियां और एंबुलेंस को रोजाना सड़क पर चलने की अनुमति होगी। राजधानी की हवा को साफ रखने के लिए सख्‍त कदम उठाए जाने की जरूरत है, लिहाज़ा सम-विषय फॉर्मूला सभी मंत्रियों और नौकरशाहों पर भी लागू होगा।'

किसी के लिए विशेष रियायत नहीं, सभी के लिए होगा नियम
उन्‍होंने यह भी स्‍पष्‍ट किया कि 'हमें इस बात से फर्क नहीं पड़ेगा कि कौन सी कार किसकी है। यानि उनका स्‍पष्‍ट कहना है कि इस नियम को लेकर किसी पर विशेष नरमी नहीं बरती जाएगी।' उनका कहना है कि 'मैं खुद अपनी कार तय दिनों में प्रयोग में लाऊंगा और अन्‍य दिन कार पूल सेवा का इस्‍तेमाल करूंगा।' उन्‍होंने लोगों से भी सरकार के फॉर्मूला को लेकर सुझाव मांगे हैं। लोग सरकार को अपने सुझाव pollutionfreedelhi@gmail.com पर ईमेल भी कर सकते हैं।

उल्‍लेखनीय है कि केजरीवाल कैबिनेट ने फैसला लिया कि अब दिल्ली में नंबर के हिसाब से सड़कों पर गाड़ियां चलेंगी। हालांकि नियम सार्वजनिक परिवहन पर लागू नहीं किया जाएगा और इसे एक जनवरी से लागू किया जाएगा। सरकार का कहना है कि इस तरीके के ज़रिए राज्य में गाड़ियों से होने वाले प्रदूषण को आधा किया जा सकता है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


सरकार के इस फैसले की राजनीतिक आलोचना और चर्चा का विषय बनने के बाद मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अगर लोगों को परेशानी हुई तो वे इस योजना को बंद भी कर देंगे। हालांकि केजरीवाल सरकार के इस फैसले को रविवार को उस वक्‍त बल भी मिला, जब चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने सरकार के इस फैसले की सराहना की और कहा कि वे खुद साथी जजों के साथ कार पूल करेंगे।