ED ने 15 घंटे की छापेमारी के बाद बंगाल के मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक को किया गिरफ्तार

मल्लिक हाबड़ा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं और वर्तमान में पर्यावरण और वन मंत्री के रूप में कार्यरत हैं, लेकिन उन्होंने पहले खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री के रूप में कार्य किया था. 

नई दिल्ली:

ED (प्रवर्तन निदेशालय) ने पश्चिम बंगाल के मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक को कथित राशन वितरण घोटाला मामले में गिरफ्तार कर लिया है. ED ने मल्लिक को 15 घंटे की छापेमारी और तलाशी के बाद गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद जब मल्लिक को कोलकाता में ईडी कार्यालय ले जाया जा रहा था, उस दौरान उन्होंने पत्रकारों से कहा कि मैं एक राजनीतिक साजिश का शिकार हूं.

गौरतलब है कि मल्लिक हाबड़ा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं और वर्तमान में पर्यावरण और वन मंत्री के रूप में कार्यरत हैं, लेकिन उन्होंने पहले खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री के रूप में कार्य किया था. 

गुरुवार को ED ने मारा था छापा

बता दें कि पश्चिम बंगाल में राशन वितरण घोटाला (Ration Distribution Scam) मामले में प्रवर्तन निदेशायल ने गुरुवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए ज्योतिप्रिय मल्लिक के ठिकानों पर रेड की थी. यह बड़ी कार्रवाई PMLA के तहत की गई थी.  ED की टीम ने इसी मामले में पिछले हफ्ते कारोबारी बकीबुर रहमान को गिरफ्तार किया था. बकीबुर रहमान ममता बनर्जी के मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक का बेहद करीबी है. ईडी की टीम ने ममता के मंत्री के आवास पर जाकर तलाशी भी ली.

ज्योतिप्रिय मल्लिक के ठिकानों पर ED की रेड

अधिकारी ने बताया था कि निदेशालय के अधिकारियों ने केंद्रीय बलों की एक टीम के सहयोग से कोलकाता साल्ट लेक इलाके में राज्य के वन मंत्री मल्लिक के दो फ्लैट पर छापा मारा. उन्होंने बताया था कि मल्लिक के पूर्व निजी सहायक के मकानों समेत आठ अन्य फ्लैट पर भी छापा मारा गया. प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा' से कहा था कि ‘छापेमारी के दौरान मंत्री वहां नहीं थे. वह बाद में आए और उनका फोन ले लिया गया है.

हम उनके पूर्व निजी सहायक के दमदम स्थित आवास और कुछ अन्य स्थानों पर भी तलाशी ली है.'अधिकारी ने बताया था कि केंद्रीय जांच एजेंसी पहले ही एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर चुकी है, जिसके सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और मलिक के साथ कथित तौर पर करीबी संबंध है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com