पिछले तीन साल में मई के दौरान दिल्ली की वायु गुणवत्ता सबसे खराब दर्ज की गई

शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 और 100 को ‘संतोषजनक’, 101 और 200 को ‘मध्यम’, 201 और 300 को ‘खराब’, 301 और 400 के बीच एक्यूआई को ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच एक्यूआई को ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

पिछले तीन साल में मई के दौरान दिल्ली की वायु गुणवत्ता सबसे खराब दर्ज की गई

विशेषज्ञों ने शुरुआती 15 दिनों के दौरान कम वर्षा को वायु गुणवत्ता के खराब होने का कारण बताया है.

नई दिल्ली:

पिछले तीन साल में इस साल मई के दौरान दिल्ली की वायु गुणवत्ता ''खराब'' की श्रेणी में दर्ज की गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. विशेषज्ञों ने महीने के शुरुआती 15 दिनों के दौरान कम वर्षा को वायु गुणवत्ता के खराब होने का कारण बताया है.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, एक मई से 20 मई के बीच दिल्ली में केवल 1.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई. दिल्ली में इस साल मई में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 212 रहा जोकि वर्ष 2021 में 144 जबकि 2020 में 143 दर्ज किया गया था. शहर में इस साल वायु गुणवत्ता 21 दिन ''खराब'' की श्रेणी में दर्ज की गई जोकि 2021 में तीन दिन जबकि 2020 में केवल दो दिन इस श्रेणी में रही थी.

शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा', 51 और 100 को ‘संतोषजनक', 101 और 200 को ‘मध्यम', 201 और 300 को ‘खराब', 301 और 400 के बीच एक्यूआई को ‘बहुत खराब' और 401 और 500 के बीच एक्यूआई को ‘गंभीर' श्रेणी में माना जाता है.

यह भी पढ़ें:
अलर्ट! प्रदूषण के कारण 2019 में दुनियाभर में लगभग 90 लाख लोगों की गई जान
1500 लो-फ्लोर इलेक्ट्रिक बसें दिल्ली में लोगों को कराएगी सैर! प्रदूषण मुक्त होगी दिल्ली
इस साल अप्रैल में दिल्ली में AQI 2016 के बाद से सबसे खराब रहा: CPCB

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गाजियाबाद में जापानी तरीके से कम होगा प्रदूषण, 20 जगहों पर लगाए जाएंगे 5 लाख पौधे



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)