इस साल अप्रैल में दिल्ली में AQI 2016 के बाद से सबसे खराब रहा: CPCB

दिल्ली में 2016 के बाद अप्रैल 2022 में सबसे अधिक प्रदूषण, इस महीने में 29 खराब वायु गुणवत्ता वाले दिन देखे गए

इस साल अप्रैल में दिल्ली में AQI 2016 के बाद से सबसे खराब रहा: CPCB

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के मुताबिक, इस साल अप्रैल में दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 256 रहा, जो 2016 के बाद से इस महीने के लिए सबसे खराब है. शहर में अप्रैल में 29 ‘‘खराब'' वायु गुणवत्ता वाले दिन देखे गए, जो सीपीसीबी द्वारा 2015 में एक्यूआई के आंकड़े रखना शुरू करने के बाद से महीने में सबसे अधिक है.

आंकड़ों के अनुसार ऐसा भी पहली बार था कि दिल्ली में अप्रैल में ऐसा एक भी दिन दर्ज नहीं किया गया जब ‘‘मध्यम'' या बेहतर वायु गुणवत्ता रही हो.

सीपीसीबी एयर लैब के पूर्व प्रमुख डॉ दीपांकर साहा ने कहा, ‘‘इस बार पूरे महीने हवा की गति अधिक रही और बारिश नहीं हुई. इसके कारण शुष्क धूल और पार्टिकुलेट मैटर ऊपर उठ गए जिसके परिणामस्वरूप पूरे महीने में उच्च एक्यूआई बना रहा.''

गौरतलब है कि अगर एक्यूआई 0-50 के बीच होता है तो उसे ‘अच्छा' माना जाता है. वहीं अगर एक्यूआई 51-100 के बीच है तो यह ‘संतोषजनक' है जबकि 101-200 के बीच ‘मध्यम', 201 से 300 ‘खराब', 301-400 के बीच ‘बहुत खराब' और 401-500 के बीच ‘गंभीर' माना जाता है.

दिल्ली में पिछले साल अप्रैल में औसत एक्यूआई 197 और 2020 में 110 दर्ज की गई थी, जो पिछले छह वर्षों में कोविड-19 से निपटने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण सबसे कम थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शहर में 2019 के अप्रैल महीने में औसत एक्यूआई 211 दर्ज की गई; 2018 में 222; 2017 में 224 और 2016 में 269 दर्ज की गई थी.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)