विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 06, 2023

"केरल के CM साबित कर रहे हैं कि वह धोती पहने PM मोदी है": एशियानेट ऑफिस में पुलिस की तलाशी पर कांग्रेस नेता

एशियानेट न्यूज के कार्यकारी संपादक सिंधु सूर्यकुमार ने रविवार को एक बयान में कहा कि चैनल "बिना किसी डर के स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता करेगा" और जांच प्रक्रिया में सहयोग करेगा. 

Read Time: 3 mins
"केरल के CM साबित कर रहे हैं कि वह धोती पहने PM मोदी है": एशियानेट ऑफिस में पुलिस की तलाशी पर कांग्रेस नेता
कांग्रेस नेता ने कहा कि सीएम और पीएम आलोचकों को डराने की कोशिश कर रहे हैं.
कोझीकोड:

केरल में एशियानेट ऑफिस में पुलिस की छापेमारी पर विपक्ष ने सत्ता पक्ष को घेरना शुरू कर दिया है. इसी मुद्दे पर केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता वीडी सतीशन ने केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन को घेरा. उन्होंने कहा कि क्राइम ब्रांच की पुलिस टीम द्वारा एशियानेट न्यूज के कार्यालय पर छापा मारने के बाद सीएम साबित कर रहे हैं कि वह "धोती पहने पीएम मोदी" हैं. विधायक पीवी अनवर की शिकायत के आधार पर प्रमुख मलयालम समाचार चैनलों में से एक के कार्यालय में छापेमारी की गई.

सतीसन ने रविवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, "केरल के मुख्यमंत्री साबित कर रहे हैं कि वह 'धोती पहने पीएम मोदी' हैं. प्रधान मंत्री मोदी ने बीबीसी कार्यालय में जो किया वह यहां एशियानेट न्यूज कार्यालय में सीएम द्वारा किया गया था. यह असहिष्णुता का एक स्पष्ट संकेत है. दोनों (सीएम और पीएम) ) आलोचकों को डराने की कोशिश कर रहे हैं." एशियानेट ने 10 नवंबर को 'नारकोटिक्स इज ए डर्टी बिजनेस' शीर्षक से एक रिपोर्ट प्रसारित की थी.

विधायक ने इस रिपोर्ट को मनगढंत बताया और डीजीपी को लिखित शिकायत की. इसके आधार पर पुलिस ने एशियानेट से चार लोगों को आरोपी बनाते हुए केस दर्ज किया. दो दिन पहले एसएफआई के कार्यकर्ता कोच्चि में एशियानेट कार्यालय में घुस गए थे. क्राइम ब्रांच के सहायक आयुक्त वी. सुरेश और सात पुलिसकर्मियों की आज की छापेमारी इन घटनाओं का सिलसिला है.

POCSO और भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया था. इस बीच, एशियानेट न्यूज के कार्यकारी संपादक सिंधु सूर्यकुमार ने रविवार को एक बयान में कहा कि चैनल "बिना किसी डर के स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता करेगा" और जांच प्रक्रिया में सहयोग करेगा. सूर्यकुमार ने कहा, "एशियानेट न्यूज कानून के अनुसार किसी भी जांच में सहयोग करेगा. जांच ड्रग माफिया के खिलाफ अभियान के हिस्से के रूप में एक कहानी के खिलाफ है, जो ताकत हासिल कर रहा है. प्राथमिकी में आरोप हैं कि सरकार की छवि को खराब करने का प्रयास किया गया."

इसके साथ ही उन्होंने कहा, "ड्रग माफिया के खिलाफ लड़ाई समाज के हित में है. सरकार अपनी शक्तियों का उपयोग कर मीडिया की स्वतंत्रता पर अतिक्रमण कर रही है. एक सत्तारूढ़ विधायक की शिकायत पर कार्रवाई की गति का विशेष रूप से उल्लेख किया जाना है. एशियानेट न्यूज अपना पक्ष स्पष्ट कर रहा है." कि जांच शुरू करने से पहले ही दफ्तर में घुसना और गुंडागर्दी एक लोकतांत्रिक संस्कृति के लिए उपयुक्त नहीं है. एशियानेट न्यूज बिना किसी डर के स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता करेगा. "

ये भी पढ़ें : संजीवनी घोटाला: सीएम अशोक गहलोत ने कहा, सरकार पीड़ितों के पैसे वापस दिलाने के प्रयास करेगी

ये भी पढ़ें : लोकतंत्र की रक्षक संस्थाओं पर बीजेपी का कब्जा, इसलिए ‘भारत जोड़ो यात्रा' करनी पड़ी : राहुल गांधी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
ईद-ए-ग़दीर की क्या है मान्यता? मुस्लिम के साथ हिंदू भी मनाते हैं ये ईद; इसी के बाद पूरा हुआ था इस्लाम
"केरल के CM साबित कर रहे हैं कि वह धोती पहने PM मोदी है": एशियानेट ऑफिस में पुलिस की तलाशी पर कांग्रेस नेता
दिल्‍ली पुलिस का 'नो नेम, नो फेम ऑपरेशन' : गैंगस्‍टरों के 15 गुर्गे गिरफ्तार, 200 सोशल मीडिया अकाउंट किए बंद 
Next Article
दिल्‍ली पुलिस का 'नो नेम, नो फेम ऑपरेशन' : गैंगस्‍टरों के 15 गुर्गे गिरफ्तार, 200 सोशल मीडिया अकाउंट किए बंद 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;