विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 06, 2023

लोकतंत्र की रक्षक संस्थाओं पर बीजेपी का कब्जा, इसलिए ‘भारत जोड़ो यात्रा’ करनी पड़ी : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा- ‘भारत जोड़ो यात्रा’ ने पूरे देश को दिखाया कि असल भारत क्या है? भारत के मूल्य क्या हैं? हमारे धर्म हमें क्या सिखाते हैं?

Read Time: 4 mins
लोकतंत्र की रक्षक संस्थाओं पर बीजेपी का कब्जा,  इसलिए ‘भारत जोड़ो यात्रा’ करनी पड़ी : राहुल गांधी
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी के आरोपों पर पलटवार किया.
नई दिल्ली:

विदेश में देश को बदनाम करने के आरोपों पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्होंने फिर से कहा कि उन्हें कन्याकुमार से कश्मीर तक करीब 4,000 किलोमीटर लंबी ‘भारत जोड़ो यात्रा' करने के लिए मजबूर होना पड़ा क्योंकि वे सभी संस्थाएं जो लोकतंत्र की रक्षा करती हैं और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता देती हैं, उन पर बीजेपी ने कब्जा कर लिया है.

राहुल गांधी ने कहा कि उनकी ‘भारत जोड़ो यात्रा' ने पूरे देश को दिखाया कि असल भारत क्या है? उन्होंने कहा, ‘‘भारत के मूल्य क्या हैं? हमारे धर्म हमें क्या सिखाते हैं? हमारी अलग-अलग भाषाएं क्या कहती हैं? हमारी अलग-अलग संस्कृतियां हमें बताती हैं कि हम भिन्न-भिन्न विचारों वाला एक देश हैं. हममें बिना किसी घृणा, बिना क्रोध और अपमान के सौहार्दपूर्ण तरीके से एक साथ रहने की क्षमता है. और जब हम ऐसा करते हैं, तभी हम सफल हैं. यात्रा का यही संदेश था.''

बीजेपी ने राहुल गांधी के कैंब्रिज में दिए गए भाषण के बाद आरोप लगाया कि उन्‍होंने बार-बार चुनावी हार के बाद विदेशों में भारत को बदनाम किया है. राहुल गांधी ने शनिवार की शाम को इंडियन जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (IJA) द्वारा आयोजित इंडिया इनसाइट्स कार्यक्रम में संवाददाताओं से कहा, "मुझे याद है कि प्रधानमंत्री ने विदेश जाकर कहा था कि आजादी के 60 या 70 साल में कुछ भी नहीं किया गया है."

राहुल गांधी ने कहा, "मुझे याद है कि उन्होंने कहा था कि एक दशक खो दिया है, भारत में असीमित भ्रष्टाचार है. विदेश में उनका यह कहना मुझे याद है. मैंने कभी अपने देश का अपमान नहीं किया. मुझे इसमें कोई दिलचस्पी नहीं है. मैं इसे कभी नहीं करूंगा. बेशक, बीजेपी को मेरी बात को तोड़मरोड़ कर पेश करना पसंद आया. यह ठीक है." 

उन्‍होंने कहा, "लेकिन तथ्य यह है कि जो व्यक्ति विदेश जाने पर भारत को बदनाम करता है, वह भारत का प्रधानमंत्री है. आपने उनका भाषण नहीं सुना है, जहां उन्‍होंने कहा कि आजादी के बाद से भारत में कुछ भी नहीं किया गया है. एक भारतीय अपने माता-पिता, दादा-दादी का अपमान करता है?" 

कांग्रेस ने पीएम मोदी की दुबई में अगस्‍त 2015 में की गई टिप्‍पणियों के लिए आलोचना की थी, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि "पिछली सरकार से अनिर्णय, सुस्ती की समस्याएं विरासत में मिली हैं." 

उस वर्ष मई में दक्षिण कोरिया की यात्रा के दौरान उन्होंने कहा था: "एक समय था जब लोग भारत में पैदा होने को लेकर पछताते थे और यह कहते हुए देश छोड़ते थे कि यह अच्छा नहीं है. वे बेहतर अवसरों के लिए जाना चाहते थे. अब, वे लोग कह रहे हैं कि वे वापस आने के लिए तैयार हैं, भले ही उनकी आय अन्य जगहों की तुलना में कम हो. मूड बदल गया है."

कैंब्रिज विश्वविद्यालय में राहुल गांधी की टिप्‍पणी कि भारतीय लोकतंत्र पर हमला हो रहा है और उनके साथ कई राजनेता निगरानी में हैं, कांग्रेस और भाजपा के बीच नई तकरार का कारण बन गई है.  

पूर्व कांग्रेस प्रमुख ने यह भी कहा था कि वह इजरायली स्पाइवेयर पेगासस के जरिए निगरानी में थे. उन्होंने भारतीय लोकतंत्र पर कथित हमले के पांच प्रमुख पहलुओं को सूचीबद्ध किया - मीडिया और न्यायपालिका पर कब्जा और नियंत्रण, निगरानी और धमकी, संघीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा जबरदस्ती, अल्पसंख्यकों, दलितों और आदिवासियों पर हमले और असंतोष को खत्‍म करना.

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
घरों के मामले में मुंबई दुनिया का तीसरा सबसे महंगा शहर, जानें इस लिस्ट में दिल्ली का है कौन सा नंबर
लोकतंत्र की रक्षक संस्थाओं पर बीजेपी का कब्जा,  इसलिए ‘भारत जोड़ो यात्रा’ करनी पड़ी : राहुल गांधी
सरपंच से मुख्यमंत्री की कुर्सी तक, कौन हैं मोहन माझी जो बन रहे हैं ओडिशा के CM
Next Article
सरपंच से मुख्यमंत्री की कुर्सी तक, कौन हैं मोहन माझी जो बन रहे हैं ओडिशा के CM
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;