CBI ने बिहार की सियासी उथल-पुथल के बाद लालू के खिलाफ भ्रष्टाचार केस में फिर शुरू की जांच

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में फिर से जांच शुरू कर दी है. सीबीआई ने जिस मामले में लालू के खिलाफ जांच शुरू की है, वो रेलवे प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है.

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले में फिर से जांच शुरू कर दी है. सीबीआई ने जिस मामले में लालू के खिलाफ जांच शुरू की है, वो रेलवे प्रोजेक्ट में भ्रष्टाचार से जुड़ा हुआ बताया जा रहा है. सीबीआई ने 2018 में रेलवे परियोजनाओं के आवंटन में भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच शुरू की थी. मई 2021 में बिहार के पूर्व सीएम लालू यादव के खिलाफ जांच बंद कर दी गई थी.

लालू यादव के अलावा, उनके बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, और बेटियां चंदा यादव और रागिनी यादव इस मामले के आरोपियों में शामिल हैं. लालू यादव के खिलाफ इस मामले को फिर से जांच करने का फैसला तब आया. जब पिछले दिनों ही नीतीश कुमार ने बीजेपी से नाता तोड़ आरजेडी के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाई. बीजेपी से अलग होने पर बिहार सीएम नीतीश कुमार ने तब आरोप लगाया था कि बीजेपी उनकी पार्टी को तोड़ने की योजना बना रही है.

सीबीआई के ताजा कदम से बड़े पैमाने पर राजनीतिक विवाद खड़ा होने की उम्मीद जताई जा रही है क्योंकि विपक्षी दल भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के आरोप लगते रहे हैं. इस मामले में आरोप लगाया गया है कि लालू यादव ने रियल एस्टेट प्रमुख डीएलएफ ग्रुप से रिश्वत के रूप में दक्षिण दिल्ली की एक संपत्ति प्राप्त की, जो मुंबई के बांद्रा में रेल भूमि पट्टा परियोजनाओं और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के पुनरुद्धार में रुचि रखती थी.

ये भी पढ़ें : Watch: राहुल गांधी ने 'भारत जोड़ो यात्रा' के दिल्ली पड़ाव में पिता राजीव गांधी को दी श्रद्धांजलि

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ये भी पढ़ें : क्या है BF.7, जानें कोरोना के नए वैरिएंट से जुड़ी सभी खास बातें