विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Jan 24, 2023

राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़कर शानदार नज़ीर पेश की थी : सचिन पायलट

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से जारी 'विवाद' को लेकर सचिन पायलट ने कोई भी टिप्पणी नहीं की, लेकिन सचिन को मुख्यमंत्री बनाने की मांग करने वाले नारों पर वह बोले, "जनता की आवाज़ सुननी होगी..."

Read Time: 3 mins
राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़कर शानदार नज़ीर पेश की थी : सचिन पायलट
सचिन पायलट ने हार के बाद पद से इस्तीफा देकर नज़ीर पेश करने के लिए राहुल गांधी की प्रशंसा की...
टॉन्क (राजस्थान):

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट ने कहा है कि वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर राहुल गांधी ने एक उदाहरण पेश किया था. टॉन्क जिले में एक निजी अस्पताल के उद्घाटन के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की ही सरकार बनाए रखने के लिए प्रयास किए जाएंगे.

गौरतलब है कि राजस्थान में इसी वर्ष विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

सचिन पायलट ने हार के बाद पद से इस्तीफा देकर नज़ीर पेश करने के लिए राहुल गांधी की प्रशंसा की. उन्होंने कहा, "राहुल गांधी ने शानदार नज़ीर पेश की थी, जब उन्होंने 2019 में हार को कबूल किया था और कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर इस्तीफा दे दिया था... उन्होंने यह भी कहा था, वह कभी फिर अध्यक्ष नहीं बनेंगे... यह शानदार उदाहरण है, क्योंकि बहुत-से लोग लगातार हारने के बाद भी अपने पद नहीं छोड़ते हैं..."

सचिन पायलट ने कहा कि सभी तीन राज्यों - मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान - में विधानसभा चुनाव कांग्रेस ही जीतेगी.

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा, "विपक्ष के तौर पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) विफल रही है, उनके पास कोई जवाब नहीं है... हमारा उर्वरक और यूरिया का कोटा भी पूरा नहीं हुआ है... केंद्र सरकार पक्षपात करती है... तीनों राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की ही सरकार बनेगी..."

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से जारी 'विवाद' को लेकर सचिन पायलट ने कोई भी टिप्पणी नहीं की, लेकिन वहां लगाए जा रहे सचिन को मुख्यमंत्री बनाने की मांग करने वाले नारों पर वह बोले, "जनता की आवाज़ सुननी होगी..." सचिन की यह टिप्पणी ऐसे वक्त में आई है, जब उनके और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच कड़वाहट बढ़ती जा रही है.

पार्टी में अनुशासन के बारे में बात करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, "पार्टी में अनुशासन सभी के लिए समान है... इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि कोई कितने ऊंचे पद पर विराजमान है, अगर कोई अनुशासन भंग करता है, तो अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) को कार्रवाई करनी चहिए..."

उन्होंने कांग्रेस 'हाथ से हाथ जोड़ो' अभियान की भी सराहना की, और कहा कि इससे जनता के मुद्दों और ज़रूरतों को जानने और समझने में मदद मिलती है.

--- ये भी पढ़ें ---
* PM नरेंद्र मोदी और गुजरात दंगों से जुड़ी BBC डॉक्यूमेंटरी पर यह बोला अमेरिका
* "ट्रैन तो चुपचाप रहने वाला...", कैलिफोर्निया शूटिंग के बाद बोले भौंचक्के पड़ोसी
* "आज युवा गहराई से कम, गूगल से ज़्यादा अध्ययन करते हैं..." : PM नरेंद्र मोदी

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
न्यूयॉर्क के बाद मुंबई में बन रही दुनिया की सबसे लंबी वॉटर टनल, 9.7 KM नेटवर्क का काम हुआ पूरा
राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़कर शानदार नज़ीर पेश की थी : सचिन पायलट
10 साल जेल, 1 करोड़ जुर्माना... रात से लागू हो गया नया पेपर लीक कानून, जानिए इसमें है क्या
Next Article
10 साल जेल, 1 करोड़ जुर्माना... रात से लागू हो गया नया पेपर लीक कानून, जानिए इसमें है क्या
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;