विज्ञापन
Story ProgressBack

भाजपा की लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से कराने की रणनीति, राजनाथ सिंह को सहयोगी और विपक्षी दलों को मनाने की जिम्‍मेदारी

लोकसभा अध्‍यक्ष का 26 जून को चुनाव किया जाएगा. इसके लिए भाजपा ने सहयोगी दलों के साथ ही विपक्षी दलों को मनाने की भी रणनीति तैयार की है.

भाजपा की लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से कराने की रणनीति, राजनाथ सिंह को सहयोगी और विपक्षी दलों को मनाने की जिम्‍मेदारी
भाजपा की कोशिश लोकसभा अध्यक्ष का चयन सर्वसम्मति से कराने की है. (फाइल)
नई दिल्‍ली :

लोकसभा अध्यक्ष (Lok Sabha Speaker) के पद पर सर्वसम्मति से चयन के लिए भाजपा ने सहयोगी दलों के साथ-साथ विपक्षी दलों को भी साधने की रणनीति तैयार कर ली है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जल्द ही बैठक करके नाम को लेकर फैसला करेंगे. इसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता एनडीए के सहयोगी दलों के साथ भी विचार-विमर्श करेंगे. पार्टी की कोशिश लोकसभा अध्यक्ष का चयन सर्वसम्मति से कराने की है और इसके लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सहयोगी दलों के साथ ही विरोधी दलों से बातचीत करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

इसे लेकर राजनाथ सिंह के आवास पर रविवार को भी एक बैठक हुई थी, जिसमें भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, जेडीयू नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के अध्यक्ष चिराग पासवान भी शामिल हुए थे.

लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण, लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव, राष्ट्रपति के अभिभाषण और उस पर चर्चा के लिए 18वीं लोकसभा का पहला सत्र 24 जून से शुरू हो रहा है. वहीं, राज्यसभा का 264वां सत्र 27 जून से शुरू होने जा रहा है. दोनों सदनों की कार्यवाही 3 जुलाई को समाप्त होगी.

6 जून को लोकसभा के नए अध्यक्ष का चुनाव

लोकसभा सत्र के पहले दो दिन यानी 24 और 25 जून को नवनिर्वाचित सांसद संसद सदस्यता की शपथ लेंगे. सांसदों के शपथ ग्रहण कार्यक्रम के संपन्न होने के बाद 26 जून को लोकसभा के नए अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा.

सूत्रों की माने तो प्रधानमंत्री मोदी स्वयं 26 जून को सदन में लोकसभा अध्यक्ष के उम्मीदवार का नाम प्रस्तावित करेंगे और पूरे सदन से उन्हें सर्वसम्मति से चुनने का आग्रह करेंगे. बताया जा रहा है कि इस बार लोकसभा उपाध्यक्ष का चुनाव भी हो सकता है. हालांकि, इसे लेकर अभी तक सरकार की तरफ से अपने पत्ते नहीं खोले गए हैं.

27 जून को राष्ट्रपति संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी

सांसदों के शपथ ग्रहण और लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव के बाद पीएम मोदी अपने मंत्रियों का परिचय सदन से कराएंगे. 27 जून को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर दोनों सदनों में अलग-अलग चर्चा भी होगी. प्रधानमंत्री मोदी दोनों सदनों में 2 और 3 जुलाई को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब भी देंगे.

ये भी पढ़ें :

* अग्निपथ योजना पर लगे रोक, सेना को शुरू करनी चाहिए स्थायी नियुक्तियां : कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा
* जातीय विभाजन की खाई को पाटने के लिए दोनों समुदायों से करेंगे बात: मणिपुर पर मीटिंग के बाद बोले अमित शाह
* लोकसभा चुनाव में 11 सीटों पर मिली हार की रिपोर्ट राजस्थान के मुख्यमंत्री ने पीएम मोदी को सौंपी, बताए क्या थे कारण?

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
दिल्ली-नोएडा में झमाझम बारिश, सुबह-सुबह अंधेरा, उमस और चिपचिपी गर्मी से मिलेगी राहत?
भाजपा की लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव सर्वसम्मति से कराने की रणनीति, राजनाथ सिंह को सहयोगी और विपक्षी दलों को मनाने की जिम्‍मेदारी
NEET-UG परीक्षा मामला :  छात्रों ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं मानने का आरोप
Next Article
NEET-UG परीक्षा मामला : छात्रों ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट का आदेश नहीं मानने का आरोप
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;