नीतीश कुमार को सुशील मोदी की नसीहत, ''जिन्होंने हमें धोखा दिया उन्हें परिणाम भुगतने पड़े''

नीतीश कुमार के 'पाला बदलने' के फैसले के बाद बीजेपी की ओर से तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है.

नीतीश कुमार को सुशील मोदी की नसीहत, ''जिन्होंने हमें धोखा दिया उन्हें परिणाम भुगतने पड़े''

सुशील मोदी ने कहा, यह बात झूठ है कि JDU को भाजपा तोड़ना चाहती थी

Bihar Political Crisis: बिहार की सियासत में मंगलवार को बड़ा बदलाव आया जब नीतीश कुमार (Nitish Kumar)ने बीजेपी और एनडीए के साथ संबंध खत्‍म करने का ऐलान कर दिया. नीतीश ने सात दलों के 'महागठबंधन' के साथ जाने का फैसला किया गया है जिसमें तेजस्‍वी यादव की आरजेडी ओर अन्‍य विपक्षी पार्टियां हैं. नीतीश ने राज्‍यपाल फागू चौहान से आज दो बार मुलाकात की. पहली बार उन्‍होंने राज्‍यपाल को सीएम पद से इस्‍तीफा सौंपा और फिर दूसरी बार उनसे मुलाकात में महागठबंधन के साथ संयुक्‍त ताकत के आधार पर नई सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किए जाने का दावा पेश किया. नीतीश का शपथ ग्रहण समारोह कल आयोजित होगा. नीतीश के 'पाला बदलने' के बाद बीजेपी की ओर से तीखी प्रतिक्रिया सामने आई है.

बिहार के वरिष्ठ बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को नसीहत दी है. उन्होंने कहा है कि, ''उन्हें (नीतीश कुमार) आरजेडी के साथ वह सम्मान नहीं मिलेगा जो उन्हें बीजेपी में रहते हुए मिला. हमने ज्यादा सीटें होने के बावजूद उन्हें सीएम बनाया और कभी उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश नहीं की. हमने तो उन्हें ही तोड़ा जिन्होंने हमें धोखा दिया. महाराष्ट्र में, शिवसेना ने हमें धोखा दिया और परिणाम भुगतने पड़े.'' 
 

बिहार के प्रमुख बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने कहा कि जेडीयू गठबंधन को तोड़ने का बहान तलाश रही थी. सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, " यह सरासर सफ़ेद झूठ है कि भाजपा ने बिना नीतीशजी की सहमति के आरसीपी को मंत्री बनाया था. यह भी झूठ है कि भाजपा JDU को तोड़ना चाहती थी. वे तोड़ने का बहाना खोज रहे थे. भाजपा 2024 में प्रचंड बहुमत से आएगी.''

बिहार के एक अन्‍य नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नीतीश कुमार पर कई गंभीर आरोप लगाए उन्होंने सीएम नीतीश से चार सवाल भी पूछे. रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मैं सिर्फ आपको याद दिलाना चाहता हूं कि आप हमारे (BJP) साथ कैसे और क्यों आए थे. आज नीतीश जी सांप्रदायिकता की बात करते हैं, लेकिन जिस समय आप बीजेपी के साथ आए थे उस समय देश में राज जन्मभूमि की लड़ाई तेज थी.  उन्होंने आगे कहा कि आज आपको बता देता हूं कि आपकी पार्टी में नीतीश कुमार जी  आपको बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट करने पर भी लोगों को परेशानी थी. हम लोगों ने आपके लिए बहुत आग्रह किया और दबाव दिया था. जार्ज फर्नांडिस जैसे नेता भी हमारे उस दबाव से सहज नहीं थे. हम सिर्फ आपको यह बात याद दिला रहे हैं. रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि आपहमारे साथ थे, आप 2013 सिर्फ नरेंद्र मोदी के विरोध के कारण चले गए. इसके बाद आप 2014 में हार गए. फिर आप लालूजी के साथ चले गए. बीजेपी आपसे पूछना चाहती है कि आपने 2015 लालू जी के साथ जाने के फैसले पर पुनर्विचार क्यों किया?. 

नीतीश और जेडीयू के पाला बदलने के फैसले पर पर प्रतिक्रिया देते हुए बिहार बीजेपी प्रमुख संजय जायसवाल ने कहा, "हमने एनडीए के अंतर्गत 2020 का विधानसभा चुनाव साथ लड़ा था. जनादेश जेडीयू और बीजेपी के लिए था. हमने ज्‍यादा सीटें जीती थीं लेकिन नीतीश कुमार को सीएम बनाया. आज जो कुछ हुआ है,वह बिहार के लोगों और बीजेपी के साथ धोखा है."

* ""पड़ोसी ने परेशान करने के लिए पालीं चींटियां"- महिला ने की शिकायत, पुलिस दुविधा में 'किस दफा में करे कार्रवाई'
* श्रीकांत त्यागी का अपराध से रहा है पुराना नाता, इसके खिलाफ धारा 307 समेत दर्ज हैं कुल नौ मामले
* घोषणा के बावजूद उद्धव ठाकरे ने अब तक MLC पद से आधिकारिक रूप से नहीं दिया है इस्तीफा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लालू और तेजस्‍वी के घर के बाहर जुटे समर्थक, RJD-JDU गठबंधन के सफल होने की जताई उम्‍मीद