विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Mar 25, 2023

"आपको अपने कर्मों का फल मिलता है" : राहुल गांधी की सदस्‍यता रद्द होने पर CM हिमंत बिस्‍वा सरमा

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, "राहुल गांधी को भारत सरकार ने दोषी नहीं ठहराया है. उन्हें एक समुदाय के खिलाफ असंसदीय भाषण के लिए कानून की अदालत ने दोषी ठहराया."  

Read Time: 3 mins
"आपको अपने कर्मों का फल मिलता है" :  राहुल गांधी की सदस्‍यता रद्द होने पर CM हिमंत बिस्‍वा सरमा
हिमंंत बिस्‍वा सरमा ने कहा कि राहुल गांधी को भारत सरकार ने दोषी नहीं ठहराया है. (फाइल)
गुवाहाटी:

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जानबूझकर देश के ओबीसी समुदाय को अपमानित किया है. शनिवार को गुवाहाटी में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्‍होंने कहा, "कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कर्नाटक में एक चुनावी भाषण के दौरान जानबूझकर ओबीसी समुदाय को अपमानित किया. उन्हें समुदाय से माफी मांगनी चाहिए, लेकिन उन्होंने अपने बयान के लिए समुदाय से माफी नहीं मांगी, जो एक नेता के अहंकार को दर्शाता है. 

सरमा ने कहा, "राहुल गांधी को भारत सरकार ने दोषी नहीं ठहराया है. उन्हें एक समुदाय के खिलाफ असंसदीय भाषण के लिए कानून की अदालत ने दोषी ठहराया. अपने भाषण में उन्होंने (राहुल गांधी) ओबीसी समुदाय के खिलाफ असंसदीय, मानहानि करने वाले शब्द का इस्तेमाल किया. उनके बयान के लिए कोर्ट ने उन्‍हें दोषी ठहराया है." 

हर किसी से हो सकती है गलतियां : बिस्‍वा

इसके साथ ही उन्‍होंने कहा, "उन्हें (राहुल गांधी को) बयान के बाद माफी मांगनी चाहिए थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. गलतियां हर किसी से हो सकती हैं. कभी-कभी जुबान फिसलने से हमसे भी गलती हो जाती हैं, लेकिन तुरंत माफी मांग लेते हैं. पांच साल की लंबी न्यायपालिका प्रक्रिया के बाद उन्हें दोषी ठहराया गया है."

कर्मो का फल मिलता है  : बिस्‍वा 

असम के मुख्‍यमंत्री ने कहा, "मैं हिंदू दर्शन में विश्वास करता हूं, जो कहता है कि 'आपको अपने कर्मों का फल मिलता है'. राहुल गांधी ने 2013 में अध्यादेश फाड़ दिया था. अब वह भारत जोड़ो यात्रा कर सकते हैं, लेकिन संसद नहीं जा सकते." 

मानहानि मामले में सजा 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को 2019 में 'मोदी'  उपनाम को लेकर की गई टिप्‍पणी के‍ लिए मानहानि के मामले में दो साल की सजा सुनाई गई है. इसके एक दिन बाद शुक्रवार को उनकी लोकसभा सदस्‍यता को रद्द कर दिया गया. शुक्रवार सुबह राहुल गांधी के लोकसभा में आने के कुछ घंटे बाद ही यह अधिसूचना जारी की गई. 

ये भी पढ़ें :

* वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने राहुल गांधी के मामले को लेकर कानूनी रणनीति में "चूक" स्वीकार की
* राहुल गांधी की संसद सदस्यता को अयोग्य करने वाले कानून के खिलाफ ही सुप्रीम कोर्ट में पहुंची याचिका
* "आप मुझे जिंदगी भर के लिए अयोग्य घोषित कर दीजिए, मैं फिर भी ...", राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
अपने ही दांव में फंसी बीमा भारती? पाला बदलने के बाद भी नहीं बदली किस्मत, पढ़े इनसाइड स्टोरी
"आपको अपने कर्मों का फल मिलता है" :  राहुल गांधी की सदस्‍यता रद्द होने पर CM हिमंत बिस्‍वा सरमा
अन्य सामाजिक समूहों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे: मराठा आरक्षण पर एकनाथ शिंदे
Next Article
अन्य सामाजिक समूहों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे: मराठा आरक्षण पर एकनाथ शिंदे
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;