विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Oct 05, 2019

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद बोले अशोक तंवर, इस चुनाव में सबकी अकड़ निकालूंगा

इस्तीफा देने के बाद अशोक तंवर ने प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस के ही नेताओं पर जमकर हमला बोला, हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया.

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद बोले अशोक तंवर, इस चुनाव में सबकी अकड़ निकालूंगा
जब सारी हद पार हो गई तो इस्तीफा देने का फैसला लिया- अशोक तंवर
नई दिल्ली:

हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर ने नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने विधानसभा चुनाव को लेकर बांटे जा रहे टिकटों की खरीद-बिक्री का आरोप लगाया है. तंवर ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे त्यागपत्र में आरोप लगाया कि पार्टी को खत्म करने की साजिश रची जा रही है. इस्तीफा देने के बाद अशोक तंवर ने प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस के ही नेताओं पर जमकर हमला बोला, हालांकि इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उनका हमला किस तरफ था, सियासी गलियारों में इसकी खुलकर चर्चा हो रही है. अशोक तंवर ने संवाददातताओं से कहा कि पिछले 5 सालों से हम लोग खून पसीने से हरियाणा में कांग्रेस को मजबूत करने की कोशिश में लगे हुए थे. लेकिन अब हमारी अनदेखी हुई. अशोक तंवर के मुताबिक पार्टी के कुछ नेताओं की राजनीतिक हत्या कर दी गई जबकि कुछ की बाकि है, उन्होंने कहा कि जिनकी हत्या हो गई, उनमें मैं (अशोक तंवर) हूं, संजय निरुपम हैं और अजय कुमार हैं. गौर है कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले संजय निरुपम ने भी नाराजगी जाहिर करते हुए खुद को कांग्रेस के चुनाव प्रचार से दूर रखने का ऐलान किया है. 

हरियाणा विधानसभा चुनाव के बीच कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर ने दिया पार्टी से इस्तीफा

प्रेस कांफ्रेंस में तंवर ने कहा कि कांग्रेस के अंदर कुछ लोग कांग्रेस मुक्त कर रहे हैं. बकौल तंवर, कुछ लोग पांच साल एसी कमरों में बैठते हैं, विदेशों में रहते हैं और चुनाव में प्रकट हो जाते हैं लेकिन ऐसे नेताओं के कर्म देवताओं वाले नहीं बल्कि राक्षसी वाले होते हैं. तंवर ने कहा कि हमारे ऊपर हमला तक किया गया, बावजूद इसके कोई मदद नहीं मिली. उन्होंने तल्ख लहजे में कहा कि 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे, 20 दिन में पता चल जाएगा कि कुछ लोग कितने बड़े नेता हैं. 

संदीप सिंह: जहां आज तक BJP ने नहीं चखा जीत का स्वाद, क्या 'फ्लिकर सिंह' खोल पाएंगे खाता?

इस्तीफा देने के बाद दुखी नजर आए तंवर ने आरोप लगाए कि साधारण परिवार वालों को मौका नहीं मिलता है, जब मिलता है तब रोज बाधाएं खड़ी हो जाती हैं. तंवर ने बताया कि मुझे हटा दिया लेकिन फिर भी उम्मीद थी कि जिन लोगों ने पांच साल मेहनत की उनके साथ न्याय होगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इस्तीफा देने का फैसला दो दिन पहले ही कर लिया था लेकिन खुद को रोक लिया था. दूसरी पार्टियों में जाने की सुगबुगाहट पर तंवर ने साफ किया कि मैं कहीं नहीं जा रहा, बीजेपी से लेकर कई पार्टियों से बुलावा आया लेकिन मैं कहीं नहीं गया. आगे के कदम के लिए अपने साथियों के साथ विचार कर जल्द ही फैसला लिया जाएगा. तंवर ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी का भी जिक्र किया और कहा कि राहुल जी ने जिन नेताओं को आगे बढ़ाया उन्हें साजिश के तहत मारने की कोशिश की जा रही है. 

हॉट टॉपिक: क्या हरियाणा में गुटबाजी से उबर पाएगी कांग्रेस?​

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
क्या है राज्य खनिज संपदा वाली जमीन पर टैक्स लगाने का मामला... जिस पर 25 साल बाद SC आज सुनाएगी फैसला
कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद बोले अशोक तंवर, इस चुनाव में सबकी अकड़ निकालूंगा
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की रेस से बाहर हुए जो बाइडेन, कमला हैरिस को दिया समर्थन
Next Article
अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की रेस से बाहर हुए जो बाइडेन, कमला हैरिस को दिया समर्थन
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;