गवर्नर के सवालों के जवाब तैयार, सत्र बुलाना हमारा हक : कैबिनेट बैठक के बाद राजस्थान के मंत्री

Rajasthan Crisis: राजस्थान में राज्यपाल द्वारा विधानसभा सत्र का प्रस्ताव वापस किए जाने के बाद सीएम गहलोत के आवास पर कैबिनेट की मीटिंग दो घंटे तक चली.

गवर्नर के सवालों के जवाब तैयार, सत्र बुलाना हमारा हक : कैबिनेट बैठक के बाद राजस्थान के मंत्री

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत.

जयपुर:

Rajasthan Crisis: राजस्थान में राज्यपाल द्वारा विधानसभा सत्र का प्रस्ताव वापस किए जाने के बाद सीएम गहलोत (CM Gehlot) के आवास पर कैबिनेट की मीटिंग दो घंटे तक चली. मीटिंग खत्म होने के बाद गहलोत सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास और हरिश चौधरी ने NDTV से बात करते हुए कहा कि राज्यपाल (Rajasthan Governor) के सभी सवालों के जवाब तैयार किए जा चुके हैं.सत्र बुलाना हमारा अधिकार है. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि 31 जुलाई को सत्र बुलाया जाए. गवर्नर ने जो भी सवाल पूछे थे हमने उसके जवाब दिए हैं. 

उन्होंने कहा कि अगर राज्य में असाधारण स्थिति पैदा हो जाए तो सत्र बुलाया जा सकता है. देश के कई हिस्सों में सत्र बुलाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि आज इस प्रस्ताव को राज्यपाल के पास भेजा जा सकता है. 

BSP विधायकों का कांग्रेस में विलय मामला: BJP विधायक ने स्पीकर के फैसले को राजस्थान HC में दी चुनौती

बता दें कि राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने सरकार के प्रस्ताव पर राज्य सरकार से कहा कि यदि उसका उद्देश्य विधानसभा में शक्ति परीक्षण करना है, तो सदन का सत्र अल्प अवधि के नोटिस पर बुलाया जा सकता है. दरअसल, यह कांग्रेस की मांग को सशर्त स्वीकार किया जाना प्रतीत होता है क्योंकि पार्टी ने विरोध-प्रदर्शन किये हैं और इस प्रकरण में राष्ट्रपति से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है. 

वहीं, दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी के छह विधायकों के कांग्रेस होने के मामले मं भारतीय जनता पार्टी के विधायक ने मामले में स्पीकर के फैसले को राजस्थान हाईकोर्ट में चुनौती दी है. बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने 24 जुलाई के स्पीकर के फैसले को राजस्थान हाईकोर्ट ले गए हैं. दरअसल, मदन दिलावर ने बीएसपी के 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ स्पीकर के समक्ष याचिका दाखिल की थी जिसे स्पीकर ने खारिज कर दिया था. अब वो इसके खिलाफ हाईकोर्ट गए हैं.

राजस्थान : SC जाने के मूड में मायावती, बोलीं - कांग्रेस को सबक सिखाने के लिए कर रहे थे सही वक्त का इंतज़ार

दिलावर ने स्पीकर के सामने 4 महीने पहले बीएसपी एमएलए लखन सिंह (करौली), राजेन्द्र सिंह गुढ़ा (उदयपुरवाटी), दीपचंद खेड़िया (किशनगढ़ बास), जोगेन्दर सिंह अवाना (नदबई), संदीप कुमार (तिजारा) और वाजिब अली (नगर, भरतपुर) के कांग्रेस में शामिल होने के खिलाफ स्पीकर से शिकायत की थी. उन्होंने अपील की थी इन 6 विधायकों को दल-बदल कानून के तहत विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित करें.

वीडियो: CM अशोक गहलोत के घर पर राजस्थान कैबिनेट की बैठक

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com