तृणमूल कांग्रेस के एक और विधायक माणिक भट्टाचार्य को ED ने भर्ती घोटाला मामले में तलब किया

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती में कथित घोटाले में धन शोधन (Money Laundering) के पहलू की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस (TMC) के विधायक माणिक भट्टाचार्य को इस मामले में तलब किया है.

तृणमूल कांग्रेस के एक और विधायक माणिक भट्टाचार्य को ED ने भर्ती घोटाला मामले में तलब किया

ED ने शिक्षक भर्ती में कथित घोटाले को लेकर तृणनूल के एक और विधायक को तलब किया है.

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती में कथित घोटाले में धन शोधन (Money Laundering) के पहलू की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस (TMC) के विधायक माणिक भट्टाचार्य को इस मामले में तलब किया है. सूत्रों ने बताया कि पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व प्रमुख और नादिया जिले से विधायक भट्टाचार्य को बुधवार दोपहर 12 बजे सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित ईडी के दफ्तर में उसके अधिकारियों के सामने पेश होने के लिए कहा गया है.

ईडी ने 22 जुलाई को भट्टाचार्य के आवासीय परिसरों पर छापे मारे थे. उसने भर्ती घोटाले में कथित रूप से शामिल अन्य लोगों के यहां भी छापेमारी की थी.

पूर्व शिक्षा मंत्री और मौजूदा उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी कथित करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी यहां सीजीओ कॉम्प्लेक्स में ईडी की हिरासत में हैं तथा उनसे पूछताछ की जा रही है. उन्हें 23 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

ईडी को मुखर्जी के दक्षिण-पश्चिम कोलकाता के आवास से कथित रूप से 20 करोड़ रुपये नकद, ज़ेवरात और विदेशी मुद्रा बरामद हुई थी. पश्चिम बंगाल में स्कूल नौकरी घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार की जाने वाली अर्पिता मुखर्जी 2008 से 2014 के बीच बंगाली और उड़िया फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय होने के साथ एक मॉडल भी थीं. मनोरंजन उद्योग में सीमित सफलता के बावजूद, अर्पिता मुखर्जी दक्षिण कोलकाता के जोका इलाके में एक लक्जरी अपार्टमेंट की मालिक हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सूत्रों ने कहा कि वह नियमित रूप से शहर में हुक्का बार जाती थीं और बैंकॉक और सिंगापुर जैसे स्थानों का भी दौरा करती थीं.