"मेरे फोटो, चैट्स...." : बर्खास्‍त की गई भारतीय मूल की CEO ने की 'हमलों' के खिलाफ संरक्षण की मांग

कंपनी की स्‍थापना अंकिती और चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर ध्रुव कपूर ने वर्ष 2015 में की थी.

जिलिंगो ने अंकिती बोस को फॉरेंसिक ऑडिट के बाद बर्खास्त किया है

नई दिल्‍ली :

सिंगापुर की कंपनी Zilingo के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) पद से पिछले सप्‍ताह बर्खास्‍त की गई भारतीय मूल की अंकिती बोस ने कहा है कि उन्‍होंने एक ट्विटर यूजर के खिलाफ 'संरक्षण' आदेश (protection order)की मांग की है. अंकिती ने इंस्‍टाग्राम पर एक पोस्‍ट में कहा, "मेरी निजी फोटो, बातचीत और रिकॉर्ड्स को मेरी सहमति के बिना अनुचित तरीके से इस्‍तेमाल और सर्कुलेट किया गया है. अब मैंने इंटरनेट पर उनके ऐसे वर्जन देखें हैं जो पूरी तरह फर्जी हैं. मुझे नहीं पता यह सब कौन कर रहा है. "

गौरतलब है कि ऑनलाइन फैशन कंपनी Zilingo परिधान व्‍यापारियों और फैक्‍टरियों को टेक्‍नोलॉजी सप्‍लाई करती है. कंपनी की स्‍थापना अंकिती और चीफ टेक्‍नोलॉजी ऑफिसर ध्रुव कपूर ने वर्ष 2015 में की थी. 31 मार्च को कंपनी के अकाउंट्स में कथित गड़बड़‍ियों की शिकायत के बाद अंकिती बोस को सस्‍पेंड कर दिया गया था. जिलिंगो ने शुक्रवार को अंकिती बोस को फॉरेंसिक ऑडिट के बाद बर्खास्त किया है. ज़िलिंगो ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा था कि "स्वतंत्र फोरेंसिक जांच के बाद कंपनी ने अंकिती को बर्खास्त करने का फैसला किया है और कंपनी के पास उनके खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई करने का अधिकार है."हालांकि, कंपनी ने इस बारे में कोई खास जानकारी नहीं दी थी कि अंकिती के खिलाफ क्या-क्या आरोप हैं और ऑडिट में उन्हें क्या पता चला है.

इस बीच 30 वर्षीय अंकिती ने दावा किया है कि उन्‍होंने अपने खिलाफ दर्ज कराई गईं शिकायतों को नहीं देखा है. उन्‍होंने कहा, "मैं अब तक उन शिकायतों को नहीं देखा है जो मेरे खिलाफ दर्ज कराई गई हैं. मैंने उस रिपोर्ट को नहीं देखा है जो 'मेरे खिलाफ' इस्‍तेमाल की गई. मुझे उस कंपनी के ई-मेल के द्वारा निकाले जाने का अपमान झेलना पड़ा है जिसे मैंने स्‍थापित किया था. "अंकिती का दावा है कि कंपनी ने उन्हें रिपोर्ट नहीं दिखाई और न ही उन्हें मांगे गए दस्तावेजों को पेश करने का समय दिया गया. साथ ही कहा कि उन्हें और उनके परिवार को लगातार ऑनलाइन धमकियां मिल रही हैं. उन्‍होंने लिखा, "मुझे अपने जीवन और परिवार के लिए लगातार ऑनलाइन धमकियों का भी सामना करना पड़ रहा है."

- ये भी पढ़ें -

* "मुझे आज़ाद कीजिए..." : राजस्थान के मंत्री के ट्वीट से सामने आईं कांग्रेस की दिक्कतें
* ड्रोन तकनीक रोज़गार देने वाली है, 2030 तक भारत 'ड्रोन हब' बन जाएगा : पीएम मोदी
*"MP बंगले से बेदखल होंगे भगवंत मान, लोकसभा सचिवालय ने संपदा निदेशालय को कार्यवाही का दिया आदेश

जम्‍मू कश्‍मीर के पूर्व CM फारूक अब्‍दुल्‍ला को ED का समन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com