बंगाल में 'बदलाव' के लिए BJP के लिए मोर्चा संभाले हैं शिवराज सिंह सहित मध्‍यप्रदेश के कुछ नेता

कैलाश विजयवर्गीय तो पहले से ही पश्चिम बंगाल की जिम्मेदारी संभाल ही रहे हैं. मध्यप्रदेश के पूर्व प्रभारी अरविंद मेनन और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल को भी बंगाल के चुनावी समर में संग्राम के लिए भेजा गया है. 

बंगाल में 'बदलाव' के लिए BJP के लिए मोर्चा संभाले हैं शिवराज सिंह सहित मध्‍यप्रदेश के कुछ नेता

मध्‍य प्रदेश के कुछ बीजेपी नेता, पश्चिम बंगाल में पार्टी के पक्ष में प्रचार कर रहे हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)

West Bengal Assembly Elections 2021: पश्चिम बंगाल बीजेपी (West Bengal BJP) ने कई दिग्गज मैदान में उतारे हैं लेकिन कुछ खास चेहरे मध्यप्रदेश की राजनीति से हैं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) के अलावा 'ऑपरेशन रंगपंचमी' में अहम किरदार निभाने वाले मध्यप्रदेश के नेताओं पर भी पार्टी ने बड़ा भरोसा जताया है. सीएम शिवराज सिंह की बंगाल के रण में फरवरी के आखिरी हफ्ते में एंट्री हो गई थी. दक्षिणेश्वर में दर्शन करने के बाद उन्होंने तृणमूल कांग्रेस को उखाड़ फेंकने के उद्घोष के साथ धुलागोरी मोड़, आलमपुर और हावड़ा सभा में सभा को संबोधित किया था. 'बंगाल फतह' के लिये भोपाल से बीजेपी की तरफ से शिवराज के अलावा गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया को भी मैदान में उतारा गया है. 

BJP ने "मोदी दादा" पोस्टर कंपेन छेड़ा, पश्चिम बंगाल में "वोट फॉर दीदी" का जवाब

राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय तो पहले से ही पश्चिम बंगाल की जिम्मेदारी संभाल ही रहे हैं. मध्यप्रदेश के पूर्व प्रभारी अरविंद मेनन और केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल को भी बंगाल के चुनावी समर में संग्राम के लिए भेजा गया है. 'ऑपरेशन रंगपंचमी' के अहम किरदार निभाने के लिए गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को पश्चिम बंगाल की 57 विधानसभा सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों की विजय सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. वे आत्मविश्वास से भरी भविष्यवाणी कर रहे हैं. "एकतरफा भारतीय जनता पार्टी है, तृणमूल तिनके की तरह उड़ रही है." सत्ता परिवर्तन में संघ, संगठन के विश्वासपात्र कैबिनेट मंत्री अरविंद भदौरिया को पार्टी ने बंगाल में चार विधानसभा क्षेत्रों की जिम्मेदारी सौंपी है. 

ममता बनर्जी ने कसा तंज, ''भारत का नाम एक दिन PM नरेंद्र मोदी पर रखा जाएगा..''

NDTV से बातचीत में उन्होंने कहा "अभी अमित शाह जी ने बैठक ली थी, सभी प्रमुख कार्यकर्ताओं को हम लोग लेकर जा रहे हैं. प्रधानमंत्रीजी को जो रैली थी उसे मैंने देखा, पीएम साहब की योजना, अमित शाह जी की प्लानिंग, संगठन की सुदृढ़ता, कार्यकर्ताओं की मेहनत से मुझे लगता है बंगाल में100 फीसदी परिवर्तन होगा."चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग को तीन जिलों का प्रभार सौंपा गया है. उनका कहना था "मैं BJP के कार्यकर्ता के तौर पर जा रहा हूं, नेता के तौर पर नहीं. ये बात सही है कि अब ममताजी का बोरिया बिस्तर बंध गया है, अंदर की बात ये भी है कि उन्होंने बड़े पैकर्स मूवर्स को ऑर्डर दे दिया है.बंगाल से ममता का चैप्टर बंद है."


मिथुन चक्रवर्ती ने क्यों कहा- मुझे बीजेपी नेता मत कहिए

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


हालांकि कांग्रेस को लगता है इस व्यूह रचना का कोई फायदा नहीं होगा. पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सज्जन सिंह वर्मा ने कहा "बीजेपी ने गलत दांव चल दिया है. ये कोई बहुत बड़े जादूगर नहीं हैं, इनसे बड़ी जादूगरनी हैं ममता जिनका जादू आज भी कायम है." बीजेपी ने पश्चिम बंगाल में कुल 294 सीटों में कम से कम 200 सीटों पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य रखा है. इसी लक्ष्य के लिये पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है.