नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ ग्रामीणों ने भूख हड़ताल शुरू की, AAP और समाजवादी पार्टी ने दिया समर्थन

भारतीय किसान परिषद (बीकेपी) के नेता सुखवीर पहलवान उर्फ ​​सुखवीर खलीफा ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से नोएडा के 81 गांवों के निवासी अपनी मांगों को लेकर नोएडा प्राधिकरण के समक्ष अपनी आवाज उठा रहे हैं लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ.

नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ ग्रामीणों ने भूख हड़ताल शुरू की, AAP और समाजवादी पार्टी ने दिया समर्थन

राज्यसभा सांसद एवं आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह (फाइल फोटो)

नोएडा:

पूर्व में अधिग्रहित जमीन के मुआवजे में बढ़ोत्तरी सहित कई मांगों को लेकर यहां किसानों के एक समूह ने नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ अपने विरोध-प्रदर्शन के तहत सोमवार को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू की. राज्यसभा सांसद एवं आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह दिन के दौरान धरनास्थल पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को उनका मुद्दा संसद में उठाने का आश्वासन दिया. समाजवादी पार्टी (सपा) ने भी प्रदर्शन कर रहे किसानों को समर्थन दिया, जो पिछले चार महीनों से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

भारतीय किसान परिषद (बीकेपी) के नेता सुखवीर पहलवान उर्फ ​​सुखवीर खलीफा ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से नोएडा के 81 गांवों के निवासी अपनी मांगों को लेकर नोएडा प्राधिकरण के समक्ष अपनी आवाज उठा रहे हैं लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ. पहलवान ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘परिणामस्वरूप, मेरे सहित 10 लोगों ने आज से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू की. हमारी लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं हो जातीं.''

प्रदर्शनकारियों में नोएडा के अन्य गांवों सदरपुर, बहलोलपुर, गेझा, बरोला, सोरखा और सरफाबाद के निवासी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि चल रहा प्रदर्शन पिछले कई वर्षों में नोएडा प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहित उनकी जमीन के लिए मुआवजे में वृद्धि और उनकी जमीन के 10 प्रतिशत आकार के एक भूखंड की मांग को लेकर है. आप प्रवक्ता संजीव निगम ने बताया कि इस बीच संजय सिंह पार्टी समर्थकों और स्थानीय पदाधिकारियों के साथ दिन में धरनास्थल पर पहुंचे और उन्हें समर्थन दिया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


निगम ने कहा, ‘‘आप के उत्तर प्रदेश प्रभारी सिंह ने नोएडा के किसानों और ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि वह संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे.'' बीकेपी के सुखवीर पहलवान ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का फोन आया था और उन्होंने अपनी पार्टी के समर्थन का आश्वासन दिया है. इस मुद्दे पर नोएडा प्राधिकरण की ओर से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई है.