'चुनाव आयोग ने लिखकर दिया कि हम उपचुनाव नहीं करा सकते', NDTV से बोले त्रिवेंद्र सिंह रावत

इस साल बजट सत्र के बीच ही त्रिवेंद्र  सिंह रावत को 10 मार्च को पार्टी के दवाब में सीएम  पद से इस्तीफा देना पड़ा था. उनके बाद तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाया गया, जिन्होंने 2 जुलाई को सबसे छोटा कार्यकाल (मात्र 114 दिन) के बाद इस्तीफा दे दिया है. आज नए नेता का चुनाव होना है.

'चुनाव आयोग ने लिखकर दिया कि हम उपचुनाव नहीं करा सकते', NDTV से बोले त्रिवेंद्र सिंह रावत

त्रिवेंद्र सिंह रावत को 10 मार्च को पार्टी के दवाब में सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (Tirath Sigh Rawat) के इस्तीफे पर पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने एनडीटीवी इंडिया से कहा है कि चुनाव आयोग ने लिखकर दिया था कि राज्य में उप चुनाव नहीं करा सकते. उन्होंने कहा कि इसी वजह से राज्य में एक संवैधानिक संकट खड़ा हो गया था क्योंकि विधानसभा का कार्यकाल अब एक साल से भी कम अवधि का रह गया है.

रावत ने कहा कि ऐसी स्थिति में चुनाव आयोग उप चुनाव की इजाजत देगा या नहीं देगा, इस पर संविधान में एक तरह की रोक सी है. उन्होंने कहा कि हालांकि चुनाव आयोग को इजाजत है कि वह चुनाव करवा सकता है. पूर्व सीएम ने कहा कि ऐसे भी उदाहरण हैं जब चुनाव आयोग ने इसकी इजाजत नहीं दी थी.

उत्तराखंड: 21 साल में 10 CM बने, एक ने ही पूरा किया 5 साल का कार्यकाल, तीरथ सिंह के नाम ये रिकॉर्ड


रावत ने कहा कि इन परिस्थितियों में उत्तराखंड के संकट को नेतृत्व परिवर्तन की तरह नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने लिख कर दिया है कि हम कोविड के चलते चुनाव नहीं करवा सकते. उन्होंने कहा कि नए मुख्यमंत्री के लिए विधान मंडल की बैठक का इंतज़ार कीजिये.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि इस साल बजट सत्र के बीच ही त्रिवेंद्र  सिंह रावत को 10 मार्च को पार्टी के दवाब में सीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था. उनके बाद तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाया गया, जिन्होंने 2 जुलाई को सबसे छोटा कार्यकाल (मात्र 114 दिन) के बाद इस्तीफा दे दिया है. आज नए नेता का चुनाव होना है.