UPSC 2019: पेट्रोल पंप पर काम करने वाले का बेटा बना IAS अफसर, पिता बोले-बाबा महाकाल ने कृपा की..

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा में 26वां स्थान हासिल करने वाले इंदौर के प्रदीप सिंह (23) ने मंगलवार अपनी सफलता की कहानी शेयर की.

UPSC 2019: पेट्रोल पंप पर काम करने वाले का बेटा बना IAS अफसर, पिता बोले-बाबा महाकाल ने कृपा की..

इंदौर के प्रदीप सिंह ने देशभर में 26वां स्‍थान हासिल किया है

इंदौर:

वर्ष 2019 की सिविल सेवा परीक्षा (Civil Services exam 2019) में देशभर में 26वां स्थान हासिल करने वाले इंदौर के प्रदीप सिंह (Pradeep Singh) के पिता मनोज सिंह सालभर पहले तक यहां एक पेट्रोल पम्प पर नौकरी करते हुए वाहनों में पेट्रोल-डीजल भरते थे, लेकिन परिवार के संघर्ष के गवाह रहे उनके बेटे ने भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी बनने का सपना बचपन से ही संजो रखा था. गुदड़ी के इस लाल ने अपने दूसरे प्रयास में केवल 23 साल की उम्र में इस सपने को सच कर दिखाया. यह भी संयोग है कि सिविल सेवा परीक्षा 2019 में शीर्ष स्थान प्राप्त करने वाले उम्मीदवार का नाम भी "प्रदीप सिंह" ही है.

UPSC में चयनित अभ्यर्थियों को PM मोदी ने दी बधाई, Tweet कर कहा...

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा में 26वां स्थान हासिल करने वाले इंदौर के प्रदीप सिंह (23) ने मंगलवार अपनी सफलता की कहानी शेयर की. उन्होंने बताया, "मैंने सिविल सेवा परीक्षा 2018 में अपने पहले प्रयास में देशभर में 93वां स्थान हासिल किया था. हालांकि, मैं आईएएस अफसर बनने से केवल एक स्थान से चूक गया था. लिहाजा मैंने इस बार और मेहनत की." सिंह ने बताया कि वर्ष 2018 की सिविल सेवा परीक्षा में उनका चयन भारतीय राजस्व सेवा (IRS) में हुआ था. इसके बाद उन्हें नागपुर की राष्ट्रीय प्रत्यक्ष कर अकादमी (NADT) में ट्रेनिंग के लिए भेजा गया था. हालांकि, फिलहाल उन्होंने इस ट्रेनिंग से अवकाश ले रखा है.

IRS अधिकारी के तौर पर काम करते हैं यूपीएससी टॉपर प्रदीप सिंह


इंदौर के प्रदीप ने याद किया कि कॉलेज की पढ़ाई तक उनके परिवार का जीवन संघर्षों से भरा था.उनके पिता मनोज सिंह शहर के एक पेट्रोल पंप पर काम करते थे और उनकी तनख्वाह परिवार के खर्चों के मुकाबले कम पड़ती थी. सिंह ने बताया, "कक्षा सात से ही मैंने ठान लिया था कि मुझे एक दिन IAS अफसर बनना है. स्नातक की पढ़ाई तक मेरा यह संकल्प और मजबूत हो गया. मैंने स्कूल से लेकर कॉलेज तक इसी लक्ष्य के मुताबिक तैयारी की है."

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


केवल 23 साल की उम्र में आईएएस अफसर बनने वाले इस उम्मीदवार के पिता मनोज सिंह (Manoj Singh) ने बताया कि उन्होंने 28 वर्ष तक शहर के देवास नाका क्षेत्र में पेट्रोल पम्प में नौकरी के बाद सालभर पहले ही खुद का छोटा-सा ट्रांसपोर्ट कारोबार शुरू किया है. सिविल सेवा परीक्षा में बेटे की कामयाबी से प्रसन्न पिता ने कहा, "बाबा महाकाल (नजदीकी उज्जैन शहर स्थित भगवान शिव का महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग) की कृपा से मेरा बेटा IAS अफसर बन गया है." 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)