Unnao: उन्नाव में दलित युवती की हत्या अखिलेश यादव के लिए सियासी मुद्दा बना, पूर्व CM ने कहा...

कुछ दिनों से लापता युवती की मां ने लखनऊ में सपा नेता की कार के आगे आत्मदाह का प्रयास किया था. गुरुवार को शव मिलने के बाद युवती की मां ने कहा कि वह पहले दिन से ही कह रही थीं कि उनकी बेटी का पूर्व मंत्री के बेटे रजोल सिंह ने अपहरण किया.

उन्नाव:

यूपी विधानसभा चुनाव के बीच उन्नाव जिला फिर सुर्खियों में आ गया है. यहां एक दलित युवती की गड्ढे के अंदर दफ़न लाश मिली है और बीजेपी और बसपा ने इस मुद्दे पर सपा को घेरा है. दरअसल, उन्नाव के एक आश्रम के पास जमीन के नीचे दफन दलित लड़की की लाश मिली है. लड़की दो महीने पहले गायब हुई थी.लड़की के परिजनों ने सपा सरकार में मंत्री रहे स्व. फतेह बहादुर सिंह के बेटे रजोल सिंह पर अपहरण का आरोप लगाया था. मृत युवती की मां ने 8 दिसंबर 2021 को उन्नाव में बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाई थी. पुलिस के द्वारा कार्यवाही न करने पर 24 जनवरी को लखनऊ में अखिलेश यादव के गाड़ी के आगे मां कूद गई थी. मामला बढ़ता देख पुलिस ने 25 जनवरी को राजोल सिंह को गिरफ़्तार किया था.

पीड़ित युवती के परिजनों ने घंटों तक लड़की का अंतिम संस्कार करने से इनकार किया और सपा नेता के पुत्र के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की. हालांकि पुलिस प्रशासन की मान-मनुहार के बाद वो मान गए. फतेह बहादुर सिंह 2012-17 के बीच सपा सरकार में मंत्री रहे. अखिलेश यादव ने इस मुद्दे पर कहा, जिस शख्स को वो समाजवादी पार्टी का बता रहे हैं, उसकी चार साल पहले मौत हो गई है. पुलिस को ये बताना चाहिए कि उसे इस मामले में कार्रवाई में इतना वक्त क्यों लगा. हम पीड़ित परिजनों के साथ हैं और उनकी मांगें मानी जानी चाहिए. 

शव मिलने के बाद पुलिस ने रजोल सिंह पर अपहरण और हत्या की धाराएँ लगाई हैं. उन्नाव के एसपी ने इंस्पेक्टर कोतवाली अखिलेश पांडे को सस्पेंड कर दिया है. परिवार प्रशासन के मनाने पर मृतक युवती का अंतिम संस्कार कराने के लिए तैयार हो गया है. बीजेपी ने इस पूरे मामले को सियासी रंग देते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव को घेरा है. बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा, यह दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. इस मामले में सपा नेता की संलिप्तता समाजवादी पार्टी के असली चेहरे को उजागर करती है. लेकिन इस मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा. बीजेपी सरकार पूरा न्याय करेगी. 


एएसपी शशि शेखर सिंह ने बताया कि युवती के लापता होने के बाद 4 फरवरी को पुलिस ने एक आरोपी रजोल सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी. एसओजी की टीम ने इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद से मिली जानकारी के आधार पर और आरोपी के एक साथी की निशानदेही पर आश्रम के पास की जमीन से गुरुवार को युवती का शव बरामद किया.

बीएसपी प्रमुख मायावती ने सपा पर निशाना साधते हुए मांग की है कि राज्य सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए दोषियों के खिलाफ तुरंत सख्त कानूनी कार्रवाई करे. बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट कर कहा, ‘उन्नाव जिले में सपा नेता के खेत में दलित युवती का दफनाया हुआ शव बरामद होना अत्यंत दुखद एवं गंभीर मामला है. परिजन पहले से ही युवती के अपहरण और हत्या की आशंका जता रहे थे. यूपी सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए दोषियों के खिलाफ तुरंत सख्त कानूनी कार्रवाई करे.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गौरतलब है कि कुछ दिनों से लापता युवती की मां ने लखनऊ में सपा नेता की कार के आगे आत्मदाह का प्रयास किया था. गुरुवार को शव मिलने के बाद युवती की मां ने कहा कि वह पहले दिन से ही कह रही थीं कि उनकी बेटी का पूर्व मंत्री के बेटे रजोल सिंह ने अपहरण किया. महिला ने इस बीच स्थानीय पुलिस और उच्च अधिकारियों से भी संपर्क किया और किसी अनहोनी की आशंका जताते हुए उनसे लगातार आरोपी रजोल के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की. कोतवाली क्षेत्र के काशीराम कॉलोनी निवासी एक दलित महिला की बेटी आठ दिसंबर 2021 से गायब थी. युवती की मां ने नौ दिसंबर को पूर्व मंत्री के बेटे रजोल सिंह के खिलाफ बेटी के अपहरण का मामला दर्ज करवाया था.