बसपा के दो कद्दावर नेताओं ने थामा सपा का दामन, यूपी विधानसभा चुनाव से पहले BSP को झटका

राम अचल राजभर बसपा के प्रदेश अध्यक्ष थे. लाल जी वर्मा बीएसपी विधायक दल के नेता थे. दोनों को मायावती ने 3 जून को पार्टी से निकाल दिया था, लेकिन दोनों की विधायकी अभी बरक़रार है.

बसपा के दो कद्दावर नेताओं ने थामा सपा का दामन, यूपी विधानसभा चुनाव से पहले BSP को झटका

बसपा विधायक लालजी वर्मा और राम अचल राजभर सपा में हुए शामिल

लखनऊ:

बीएसपी ((BSP) के दो विधायक लालजी वर्मा (Lalji Verma ) और राम अचल राजभर (Ram Achal Rajbhar) रविवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. यूपी विधानसभा चुनाव (UP assembly election 2022) से पहले दो कद्दावर नेताओं के पार्टी छोड़ने से बसपा सुप्रीमो मायावती को तगड़ा झटका लगा है. राजभर और लाल जी वर्मा दोनों ही पांच-पांच बार के विधायक रहे हैं. दोनों ही कई बार कैबिनेट मंत्री रहे हैं. राम अचल राजभर बसपा के प्रदेश अध्यक्ष थे. लाल जी वर्मा बीएसपी विधायक दल के नेता थे. दोनों को मायावती ने 3 जून को पार्टी से निकाल दिया था, लेकिन दोनों की विधायकी अभी बरक़रार है.

...जब फ्लाइट में आमने-सामने आए प्रियंका गांधी और अखिलेश यादव, फोटो तेजी से हो रही वायरल

अखिलेश यादव ने सोमवार को इन्हें पार्टी में शामिल करते हुए कहा कि यह दोनों नेता समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party)को मजबूत करेंगे. दोनों नेता अंबेडकर नगर ज़िले से संबंध रखते हैं. लालजी वर्मा कटेहरी सीट से विधायक हैं और रामअचल राजभर अकबरपुर सीट से. यूपी में विधानसभा चुनाव फरवरी-मार्च में होना हैं. इसको लेकर सभी दलों की सक्रियता बढ़ गई है.

‘अब मंत्री जी को भी पेट्रोल की जरूरत नहीं पड़ेगी चूंकि जनता पैदल कर देगी' : अखिलेश यादव का तंज

सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने विजय रथ यात्रा का कानपुर से आगाज किया था. जबकि पिछले एक माह में तीन बार पीएम मोदी यूपी आ चुके हैं. सोमवार को पीएम मोदी ने सिद्धार्थनगर से यूपी के नौ जिले के मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया. उन्होंने उसके बाद वाराणसी में 5200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया. वहीं कांग्रेस ने यूपी में प्रतिज्ञा यात्रा तीन जगहों से शुरू की है.


सपा विधायक को CM योगी बनाएंगे डिप्टी स्पीकर, 6 घंटे के लिए कल बुलाया गया UP विधानसभा का सत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके तहत कांग्रेस के यूपी विधानसभा चुनाव से जुड़े वादों और कार्यक्रमों का प्रचार प्रसार किया जाएगा. कांग्रेस महासचिव खुद यूपी में प्रचार अभियान की कमान संभाले हैं. कांग्रेस ने उन्हें यूपी में चेहरे के तौर पर पेश करते हुए लड़की हूं-लड़ सकती हूं का नारा भी दिया है.