"ये बीजेपी के विकास और सुशासन के एजेंडे की जीत", गुजरात के निकाय चुनाव में BJP की शानदार जीत

Gujarat Municipal Election : निकाय चुनाव की कुल 8474 सीटों में से 2085 सीटें BJP की झोली में अब तक जा चुकी हैं. कुल 81 नगरपालिकाओं में से 75 पर बीजेपी बड़े बहुमत की ओर बढ़ रही है. कांग्रेस 4 और और आप को दो नगरपालिकाओं में बढ़त है. 

Gujarat Municipal Election Result

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने गुजरात के निकाय चुनाव (Gujarat Municipal Election) में बीजेपी की शानदार जीत पर राज्य की जनता को बधाई दी है. प्रधानमंत्री ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, गुजरात की नगर पालिका, तालुका पंचायत और जिला पंचायत चुनाव के नतीजों ने साफ संदेश दिया है कि राज्य की जनता बीजेपी के विकास औऱ सुशासन के एजेंडे के साथ है. बीजेपी के प्रति प्यार और समर्थन के लिए मैं गुजरात की जनता को नमन करता हूं.

निकाय चुनाव में बीजेपी बड़ी जीत की ओर बढ़ रही है. तमाम नगरपालिकाओं की कुल 8474 सीटों में से 2085 सीटें BJP की झोली में अब तक जा चुकी हैं. जबकि उसकी मुख्य प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस (Congress) कोसों दूर है. आम आदमी पार्टी (AAP) ने 15 सीटें जीतकर फिर अपनी बढ़ती ताकत दिखाई है. कुल 81 नगरपालिकाओं में से 75 पर बीजेपी बड़े बहुमत की ओर बढ़ रही है. कांग्रेस 4 और और आप को दो नगरपालिकाओं में बढ़त है. बता दें कि गुजरात में अगले साल विधानसभा चुनाव भी होने हैं. 

BJP सभी 31 जिला पंचायतों और 231 तालुका पंचायतों में से 196 पर बढ़त बनाए हुए है. कांग्रेस 33 निकायों में आगे है. गुजरात के निकाय चुनावों की 8474 सीटों में से 8235 पर चुनाव हुए हैं, बाकी पर उम्मीदवार को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया. हालांकि कांग्रेस का प्रदर्शन पिछले हफ्ते छह नगर निगम चुनावों के मुकाबले थोड़ा बेहतर है.


बता दें कि पिछले हफ्ते बीजेपी ने अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, वडोदरा, भावनगर और जामनगर में नगर निगम चुनावों में 576 सीटों में से 483 सीटों पर जीत हासिल की थी. वहीं, आम आदमी पार्टी ने बड़ी जीत हासिल करते हुए सूरत की 27 सीटें झटक लीं. यहां कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि इन निकाय चुनावों में बीजेपी-कांग्रेस के अलावा इस बार पहली बार आम आदमी पार्टी और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया इत्तिहाद-ए-मुस्लिमीन ने भी अपने उम्मीदवार उतारे थे. केजरीवाल यहां सूरत में जीत के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने गए थे और रोडशो किया था.