डॉक्टर की पत्नी हुई कोरोना पॉजिटिव, सैंपल घरेलू सहायक महिला के नाम से भेज दिया!

मध्यप्रदेश के सिंगरौली के डॉ अभय रंजन सिंह ने न तो छुट्टी ली, न ही इजाजत और शादी में शरीक होने के लिए उत्तर प्रदेश के बलिया चले गए थे

डॉक्टर की पत्नी हुई कोरोना पॉजिटिव, सैंपल घरेलू सहायक महिला के नाम से भेज दिया!

प्रतीकात्मक फोटो.

भोपाल:

मध्यप्रदेश के सिंगरौली में एक सरकारी डॉक्टर पर आरोप है कि उन्होंने न सिर्फ कोरोना प्रोटोकॉल को तोड़ा, बल्कि अपनी पत्नी के सैंपल पर जानबूझकर अपनी घरेलू सहायक का नाम लिखवा दिया जो कोरोना संक्रमित थीं. अब डॉक्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. वे और उनके तीन परिजन कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. 
     
खुटार स्वास्थ्य केन्द्र में खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ अभय रंजन सिंह एक जुलाई को उत्तर प्रदेश के बलिया से वापस लौटे. वे बगैर इजाज़त और बिना छुट्टी लिए शादी में शरीक होने वहां चले गए थे. सिंगरौली वापस आने के बाद नियमानुसार डॉक्टर साहब को क्वारंटाइन होना चाहिए था लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया. पत्नी में कोरोना के लक्षण दिखे तो उनकी रिपोर्ट में किसी और का नाम लिखकर भेज दिया. डॉ सिंह 23 जून को बैढ़न से यूपी के बलिया के लिए रवाना हुए थे. वे एक जुलाई की शाम को वापस आ गए. सीएमएचओ ने कोरोना की वजह से उनकी छुट्टी मंज़ूर नहीं की थी.
     
बैढ़न थाना प्रभारी अरुण पांडेय ने कहा "महामारी अधिनियम और आपदा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों के तहत डॉक्टर के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की गई है. एक बार जब वह वायरल संक्रमण से ठीक हो जाएंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. बीएमओ की पत्नी के नमूने किसी अन्य महिला के नाम पर भेजे गए. परीक्षण में वो COVID पॉजिटिव निकली. जब मेडिकल टीम उनके घर गई तो पाया गया कि यह उसका नमूना नहीं था."


     

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस मामले में डॉक्टर सिंह और उनके 3 परिजन तो संक्रमित हो ही गए हैं, लगातार बैठकों में भाग लेने की वजह से एक एसडीएम सहित 33 सरकारी कर्मचारियों को क्वारंटाइन किया गया है. उनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं. ये सब उनके संपर्क में थे.
( सिंगरौली से देवेन्द्र पांडे के इनपुट के साथ)