तेजस्वी यादव ने NDTV को बताया,' हवा-हवाई नहीं है 10 लाख रोजगार देने का वादा '

आरजेडी के चुनावी वादे पर विपक्ष के सवाल और जनता की उम्मीदों पर तेजस्वी यादव ने एनडीटीवी के खास कार्यक्रम 'देस की बात' में अपनी बात रखी.

मधुबनी:

Tejashwi Yadav Interview on NDTV :  बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) में दूसरे और तीसरे चरण के चुनाव प्रचार में जुटी सभी पार्टियों ने जनता के बीच अपने काम और वादों का पिटारा खोल दिया है. कहीं कोई रोजगार की बात कर रहा है तो कोई सुशासन की. इन सबके बीच बिहार चुनाव में जिस वादे और जिस नेता की सबसे ज्यादा चर्चा है वो हैं राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता और महागठबंधन से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav). तेजस्वी ने बिहार की जनता को 10 लाख सरकारी नौकरी देने का जो वादा किया है उससे विपक्षी खेमें में हलचल है और जनता के मन में तेजस्वी के रूप में उम्मीद. ऐसा इसलिए कहा जा सकता है कि सभी पार्टियों के बड़े नेताओं द्वारा किए जा रहे चुनाव प्रचार के दौरान यदि किसी नेता की रैली में सबसे ज्यादा भीड़ जुट रही है तो वो तेजस्वी यादव की रैलियों में हैं.

जानकार मान रहे हैं कि राज्य का युवा, रोजगार के मुद्दे पर तेजस्वी के साथ है और वो नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के 15 साल के शासन के बाद अब बदलाव की मांग कर रहा है. वहीं विपक्षी पार्टियां तेजस्वी यादव के रोजगार के वादे को लेकर लगातार हमलावर रुख अख्तियार किए हुए है और उनसे पूछ रही हैं कि आखिर वो राज्य के युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरी कहां से देंगे? 

एनडीटीवी संवाददाता उमाशंकर सिंह के साथ एक्सक्लूसिव (Exclusive) बातचीत में आरजेडी के चुनावी वादे पर विपक्ष के सवाल और जनता की उम्मीदों को लेकर तेजस्वी यादव ने क्या कहा आपको बताते हैं....

'नीतीश जी ने सब चौपट कर दिया'
तेजस्वी से पूछा गया कि रोजगार की बात को सीएम नीतीश कुमार ने बोगस करार दिया है, इस पर उन्होंने कहा, 'नीतीश कुमार जी पूरी तरह से थक चुके हैं. नीतीश जी ने रोजगार नहीं दिया, अब कुछ भी बोल रहे हैं बिहार उनसे संभल नहीं रहा है. बिहार में मुद्दे हैं, कमाई, दवाई, पढ़ाई और सिंचाई, नीतीश कुमार जी ने सब चौपट कर रखा है. हमने उसकी एक व्यवस्था दी है. खाली पद है उसको आप नहीं भरेंगे. हमने अर्थशास्त्र के जानकारों से चर्चा के बाद ही ये वादा जनता से किया है. करने को हम कितनी भी संख्या बता सकते थे. लेकिन हमारे पास आंकड़े हैं. 4.5 लाख पद खाली पड़े हैं. और 5.5 लाख नेशनल एवरेज के मुकाबले आने के लिए हैं.' 

'हवा-हवाई बात नहीं है रोजगार वादा' 
तेजस्वी ने 10 लाख रोजगार देने के वादे की पीएम मोदी के 2 करोड़ रोजगार देने के वादे से तुलना करने पर कहा, 'हम हवा-हवाई बात भाषण नहीं करना चाहते हैं. इसलिए क्योंकि हमें लंबी राजनीति करनी है. और जो चीज संभव है, जब पैसा है, खाली पदों को भरना है, नेशनल एवरेज के मुकाबले लाना है. जब आदमी चांद पर चला जा सकता है तो क्या बिहार में कारखाना नहीं लग सकता है? नौकरियां नहीं भरी जा सकती हैं? हम खाली पदों को भरने की बात कर रहे हैं. ये बेवकूफों वाली बातें है कि खाली पदों को इतने सालों से छोड़ रखा है. '

पीएम मोदी के वार पर तेजस्वी का जवाब
पीएम मोदी द्वारा भ्रष्टाचार के युवराज कहे जाने पर  तेजस्वी यादव ने कहा, 'वो जंगलराज का युवराज बोलें, चाहे कुछ बोलें, उनके पास बोलने के लिए कुछ है ही नहीं. 15 साल की डबल इंजन की सरकार ने बिहार को दिया ही क्या है? स्थानीय निकाय से लेकर पूरे राष्ट्र में एनडीए की सरकार है बिहार को क्या मिला? कहां गया स्पेशल पैकेज? कहां गया विशेष राज्य का दर्जा? नीति आयोग का रिपोर्ट ही वो पढ़ लें, हर सूचकांक में बिहार फिसड्डी है. स्वास्थ्य-शिक्षा का तो पूछिए ही मत, ये तो उन्हीं की रिपोर्ट है. और जंगल राज की बात कर रहे हैं. हम भी 15 महीने सरकार में रहे हैं आप क्राइम रिकोर्ड निकालकर देख लीजिए. एनसीआरबी का आंकड़ा देख लीजिए. कि हमारे रहते में कितना आंकड़ा था और हमारे जाने के बाद कितना है. पीएम कुछ भी कह सकते हैं. हमारा जनता से कमाई, दवाई और पढ़ाई का वादा है, जिसे हम पूरा करेंगे. नीतीश जी ने 15 साल में बिहार को क्या दिया. चीनी मिल से लेकर हर कारखाना बंद हैं,  हम खोलेंगे. जंगलराज की बात कर रहे हैं, आप क्राइम रेकॉर्ड निकल कर देखिए.नए कारखाने लगाएंगे. पलायन रोकेंगे, खेती-बाड़ी में भी रोज़गार बढ़ाएंगे. नई कृषि नीति बनाएंगे. लालू जी ने सामाजिक न्याय दिया, हम आर्थिक न्याय देंगे.'

'इन्हें इतिहास के बासी पन्ने मुबारक'
बीजेपी द्वारा लालू यादव के जंगलराज की बात किए जाने पर तेजस्वी ने कहा 'हमें वर्तमान और भविष्य की चिंता है, भविष्य को बेहतर बनाना है. भविष्य की बात करनी है. इन लोगों को इतिहास के बासी पन्ने मुबारक हो. अरे 15 साल से तो बीजेपी और जेडीयू सरकार में हैं. क्या किया आपने? 60 घोटाले किए जिसमें 30 हजार करोड़ का बंदरबांट हुआ. ये भ्रष्टाचार की बात करते हैं, किसी व्यक्ति से जाकर पूछिए, ब्लॉक-थाने में अगर भ्रष्टाचार बढ़ा है कि नहीं.'


नतीजों के बाद नीतीश के साथ गठबंधन?
चुनाव नतीजों के बाद नीतीश के साथ गठबंधन के सवाल पर तेजस्वी यादव ने कहा 'उन्हें मौक़ा दिया था पर उन्होंने धोखा दिया जनता हमें पूरा भरोसा है कि जनता हमें पूर्ण बहुमत देगी. नीतीश जी की प्राथमिकता है उनकी कुर्सी, उसके लिए वो कुछ भी कर सकते हैं. नीतीश कुमार ने 4 साल में चार सरकार बनाई. अगर नतीजे हंग असेंबली के आते हैं तो भी यह नीतीश के खिलाफ होगा.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चुनाव प्रचार के दौरान नीतीश कुमार की भाषा पर तेजस्वी यादव ने कहा कि वह मेरे लिए आशीर्वाद है.