तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर हमला, कहा- बाढ़ को लेकर इस निकम्मी सरकार ने कुछ भी नहीं किया

इस साल के अंत तक बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. चुनाव को देखते हुए बिहार में राजनीतिक बयानबाजी तेज होती जा रही है.

तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर हमला, कहा- बाढ़ को लेकर इस निकम्मी सरकार ने कुछ भी नहीं किया

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  • तेजस्वी यादव का बिहार सरकार पर हमला
  • इस साल के अंत में होने वाला है बिहार विधानसभा का चुनाव
  • बाढ़ संकट से निपटने के लिए सरकार ने कुछ भी नहीं किया- तेजस्वी
नई दिल्ली:

इस साल के अंत तक बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. चुनाव को देखते हुए राज्य में राजनीतिक बयानबाजी तेज होती जा रही है. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार पर समस्या के समाधान के लिए कुछ भी नहीं कर पाने का आरोप लगाया है.तेजस्वी ने एक के बाद एक 2 ट्वीट कर कहा है कि सरकार पूरे मामले पर गंभीर नहीं है. तेजस्वी ने लिखा है, 'मानसून के दस्तक से बिहार के कोसी और गंडक नदी के मैदानी इलाक़ों के लोग आशंकित हैं. जान-माल,मवेशी का नुक़सान हर साल होता आ रहा है, विस्थापन का सामना करते आ रहे हैं लेकिन इस निकम्मी सरकार ने 15 वर्षों में कोई ठोस कदम नहीं उठाया. भ्रष्टाचार का आलम ये है की यहां चूहे बांध खा जाते हैं.' 


तेजस्वी .यादव ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, 'मुख्यमंत्री ने अभी तक बाढ़ के ख़तरों को लेकर ना कोई बैठक की और ना ही प्रभावित क्षेत्रों में जाकर तैयारी का जायज़ा लिया. खानापूर्ति के नाम पर आलीशान बंगले में बैठ बिना मीडिया से बात किए एक प्रेस नोट भेज देंगे. तटबंधो की मरम्मती या नए बराज़ को लेकर सरकार कभी गम्भीर नहीं रही.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि इससे पहले बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने प्रेस कॉन्फ़्रेन्स कर कोरोना संकट को लेकर सरकार पर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि नीतीश कुमार जी देश के पहले मुख्यमंत्री हैं, जो 90 दिन से चार दीवारी से बाहर नहीं निकले हैं. सरकार का ध्यान तेजी से फैल रही कोरोना बीमारी की ओर नहीं है. सरकार का ध्यान अब चुनाव की तिथि को देखने में लगा हुआ है. तेजस्वी के अनुसार, उसी के अनुसार अब राजनीतिक गतिविधि तेज कर दी गई है. उनके अनुसार, सरकार चुनाव पर ज़्यादा ध्यान दे रही है जो ग़रीब हैं जो मज़दूर हैं, उनको पूरी तरीक़े से भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है.