"...तो किसी अंग्रेज के घर में जूते-चप्पल साफ कर रहे होते": कंगना के बयान पर तेज प्रताप यादव

तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा है कि 2014 में देश को आजादी मिलने की बात कहकर शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को अपमानित न करें.

तेज प्रताप यादवने कहा है कि शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को अपमानित न करें.

नई दिल्ली:

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बयान पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब तेज प्रताप यादव(Tej Pratap Yadav) ने कहा है कि 2014 में देश को आजादी मिलने की बात कहकर शहीद स्वतंत्रता सेनानियों को अपमानित न करें. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर वह देश के लिए बलिदान नहीं देते तो आज भी किसी अंग्रेज के घर पर जूते चप्पल साफ कर रहे होते. हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान कंगना रनौत ने 2014 में असली आजादी मिलने की बात कही थी. जिस पर उनकी खासी आलोचना हुई है. 

तेज प्रताप यादव ने इसे लेकर के ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा, "जब कुछ लोग अंग्रेजों से माफी मांग रहे थे तब देश के वीर फांसी का फंदा चूम रहे थे तो यह कह कर की देश को आजादी 2014 के बाद मिली है देश के खातिर शहीद हुए स्वतंत्रता सेनानियों को तो अपमानित ना करें अगर वह देश के खातिर बलिदान ना देते तो आज भी किसी अंग्रेज के घर में जूते चप्पल साफ कर रहे होते."

इसके साथ ही तेज प्रताप ने कंगना रनौत की एक फोटो पोस्ट की है, जिसमें वह फुटवियर के कलेक्शन के साथ नजर आ रही हैं.

"हरियाणवी स्क्रिप्‍ट राइटर, सी ग्रेड कहानी कहीं और लिखना": तेजस्‍वी के करीबी संजय यादव पर तेज प्रताप का निशाना 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रनौत ने गुरुवार को यह कहकर विवाद उत्पन्न कर दिया था कि भारत को ‘वास्तविक आजादी' 2014 में मिली थी. उनका परोक्ष तौर पर इशारा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार के सत्ता में आने की ओर था. रनौत ने इसके साथ ही वर्ष 1947 में देश को मिली आजादी को ‘भीख' करार दिया था.