सौतेली मां ने 8 साल के बच्चे पर ढाया जुल्म, दिल्ली महिला आयोग ने आजाद कराया

बच्चे के उत्पीड़न की शिकायत पुलिस को की गई थी लेकिन उसने इसे घर का मामला बता कार्रवाई नहीं की. शिकायतकर्ता ने अपने फोन में एक वीडियो भी दिखाया, जिसमें बच्चा चीखता हुआ सुनाई दे रहा है और उसे पीटने की भी आवाज़ सुनाई दे रही है.

सौतेली मां ने 8 साल के बच्चे पर ढाया जुल्म, दिल्ली महिला आयोग ने आजाद कराया

Delhi Women commission को बच्चे ने सौतेली मां की बर्बरता की पूरी कहानी बताई

नई दिल्ली:

दिल्ली के हरीनगर इलाके से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां 8 साल के एक बच्चे को उसकी सौतेली मां रोज बुरी तरह मारती-पीटती थी, बच्चे की चीखें पूरे मोहल्ले में गूंजती थीं. पड़ोस के लोगों ने मंगलवार को दिल्ली महिला आयोग (Delhi Women Commission) की 181 हेल्पलाइन पर कॉल किया और इस बर्बरता की सूचना दी.

दिल्ली महिला आयोग ने तुरंत टीम गठित की जो की मौके पर पहुंची. शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने कई बार इसकी शिकायत पुलिस को भी की लेकिन इसे घर का मामला बता कोई कार्रवाई नहीं की गई. शिकायतकर्ता ने अपने फोन में एक वीडियो भी दिखाया, जिसमें बच्चा चीखता हुआ सुनाई दे रहा है और उसे पीटने की भी आवाज़ सुनाई दे रही है.

टीम जिस वक़्त मौके पर पहुंची, उस वक़्त भी घर से बच्चे के रोने चीखने की आवाज सुनाई दे रही थी. आयोग ने पीसीआर पर कॉल कर पुलिसकर्मी को बुलाया और बच्चे को घर से वहां से छुड़ाया. बच्चे और उसकी सौतेली मां को हरीनगर पुलिस स्टेशन ले जाया गया.पुलिस स्टेशन पहुंचकर बच्चे की काउंसलिंग की गई. बच्चा बहुत डरा हुआ था और कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था, हालांकि काउंसिलिंग के बाद बच्चे ने अपनी आपबीती बताई.


बच्चे ने बताया कि उसके साथ रोज़ उसकी सौतेली माँ मारपीट करती थी. कई बार खाना नहीं दिया जाता था और न ही उसे घर से बाहर जाने दिया जाता था, जब जब मां बाहर जाती उसे रस्सी से बांधकर जाती. बच्चे के हाथ पर ज़ख्मों के निशान उसके साथ हुई बर्बरता की कहानी साफ दर्शाते थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उसके हाथ पर कंघी से हमला करने के भी निशान हैं, जिसकी वजह से हाथ में छोटे खड्डे हो गए हैं. उसके पूरे हाथ सूजे हुए हैं, पीठ पर नोचने के निशान हैं, सिर में भी चोटें हैं और पूरे शरीर पर अन्य जगहों पर जख्म हैं. अच्छी तरह से खाना न मिलने के कारण बच्चा कमजोर भी है.