शरद पवार की सचिन तेंदुलकर को सलाह, किसानों के बारे में बोलते समय सावधानी बरतें

शरद पवार ने कहा, ये प्रदर्शनकारी किसान हैं जो कि हमारे देश का पेट भरते हैं, इसलएि इन्हें खालिस्तानी या आतंकवादी कहना उचित नहीं है

शरद पवार की सचिन तेंदुलकर को सलाह, किसानों के बारे में बोलते समय सावधानी बरतें

एनसीपी के नेता शरद पवार ने सचिन तेंदुलकर के किसान आंदोलन के विरोध में ट्वीट का जवाब दिया है.

पुणे:

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने शनिवार को कहा कि मशहूर क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को किसानों (Farmers) के बारे में बोलने के दौरान काफी सावधानी बरती चाहिए. अमेरिकी गायिका रिहाना और पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग सहित कुछ विदेशी शख्सियतों के प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में ट्वीट के बाद तेंदुलकर और प्रख्यात गायिका लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) सहित विभिन्न हस्तियों ने सोशल मीडिया पर ‘‘इंडिया टुगैदर'' और ‘‘इंडिया अगेन्स्ड प्रोपेगैंडा'' हैश टैग से सरकार के रुख के समर्थन में ट्वीट किए थे.


सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर जैसी हस्तियों की ओर से किसान आंदोलन के संबंध में प्रतिक्रिया दिए जाने के सवाल पर शरद पवार ने कहा कि लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने कहा, ‘‘मैं सचिन तेंदुलकर को सुझाव दूंगा कि उन्हें अन्य क्षेत्रों से जुड़े मुद्दों पर बयान देने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शरद पवार ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसानों को खालिस्तानी और आतंकवादी कहकर आंदोलन को बदनाम कर रही है. पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा, ‘‘ये प्रदर्शनकारी किसान हैं जो कि हमारे देश का पेट भरते हैं. इसलएि इन्हें खालिस्तानी या आतंकवादी कहना उचित नहीं है.''