Budget 2021: शेयर बाजार में 'रौनक', 2314 अंकों की बढ़त के साथ 48600 पर बंद हुआ सेंसेक्‍स

आम बजट (Union Budget 2021) पेश होने से पहले सेंसेक्स (Sensex) आज (सोमवार) सुबह बढ़त के साथ खुला. सेंसेक्स 48 हजार के पार जाकर बंद हुआ.

Budget 2021: शेयर बाजार में 'रौनक', 2314 अंकों की बढ़त के साथ 48600 पर बंद हुआ सेंसेक्‍स

हाल ही में सेंसेक्स ने 50 हजार का आंकड़ा पार किया था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • 400 अंक ऊपर खुला सेंसेक्स
  • 13703 अंकों तक पहुंचा निफ्टी
  • वित्त मंत्री पेश करेंगी आम बजट
मुंबई:

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) नेे आज  आम बजट (Union Budget 2021) पेश किया .उन्‍होंंने तीसरी बार बजट पेश किया. बजट पेश होने से पहले सेंसेक्स (Sensex) आज सुबह बढ़त के साथ खुला जो बजट के बाद 2314 अंकों की बढ़त के साथ 48600 अंकों तक जा पहुंचा. अंत में यह 2,314.84 अंक यानी पांच प्रतिशत की बढ़त के साथ 48,600.61 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 646.60 अंक यानी 4.74 प्रतिशत बढ़कर 14,281.20 अंक पर बंद हुआ.गौरतलब है क‍ि  समय हल्‍की गिरावट के लिए यह 47 हजार के नीचे आ गया था लेकिन बाद में संभलते हुए फिर से 47 हजार का आंकड़ा पार कर गया.

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने जनवरी में भारतीय बाजारों में शुद्ध रूप से 14,649 करोड़ रुपये का निवेश किया है. वैश्विक स्तर पर उपलब्ध तरलता के बीच FPI उभरते बाजारों में पैसा लगा रहे हैं. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा कि बजट प्रस्तावों को लेकर अनिश्चितता की वजह से FPI अभी बाजार की दिशा को लेकर असमंजस में हैं. इस वजह से पिछले कुछ दिन से वे बिकवाली कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नवंबर और दिसंबर में उभरते बाजारों में भारत को FPI से सबसे अधिक निवेश मिला है. इसी वजह से सेंसेक्स 50,000 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा था. उन्होंने कहा, 'अब बजट को लेकर अनिश्चितता की वजह से FPI मौजूदा स्तर पर मुनाफा काट रहे हैं.'

सेंसेक्स 50,000 अंक का रिकॉर्ड स्तर छूने के बाद फिसला, 167 अंक टूटा

वहीं दूसरी तरफ सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से 9 कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह 3,96,629.40 करोड़ रुपये की भारी गिरावट आई. बाजार में व्यापक रूप से कमजोरी के रुख के बीच रिलायंस इंडस्ट्रीज को सबसे अधिक नुकसान हुआ. आम बजट से पहले मुनाफा वसूली का सिलसिला चलने से बीते सप्ताह BSE का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 2,592.77 अंक या 5.30 प्रतिशत नीचे आ गया.

1 हज़ार से 50 हज़ार का सफर : सेंसेक्स ने बनाया इतिहास तो BSE ने साझा किए दिलचस्प आंकड़े


बताते चलें कि कोरोना महामारी (Coronavirus) की वजह इस बार बजट दस्तावेजों की छपाई नहीं की गई है. इलेक्ट्रोनिक तरीके से बजट की प्रतियां बांटी जाएंगी. कोरोना काल में हर क्षेत्र बुरी तरह प्रभावित हुआ था. यही वजह है कि इस बार के बजट से हर क्षेत्र को राहत की खासा उम्मीदें हैं. कारोबारी वर्ग सरकार से GST में राहत की मांग कर रहा है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: इतिहास में पहली बार सेंसेक्स ने 50 हज़ार के आंकड़े को पार किया